नोएडा पुलिस आजकल गाड़ियों को ‘जाति मुक्त’ बनाने के अभियान में लगी हुई है। इसी कड़ी में नोएडा पुलिस ने ऑपरेशन क्लीन में उन गाड़ियों को निशाने पर लिया जिनकी नंबर प्लेट पर नंबर नहीं बल्कि जाति या कुछ अन्य लिखा है। पुलिस ने ऑपरेशन क्लीन में ऐसी ही गाड़ियों के या तो चालान किए या फिर उन्हें जब्त कर लिया। ऑपरेशन के दौरान पुलिस को कई वाहन मिले जिनकी नंबर प्लेट पर खान, गुर्जर, यादव, प्रधान या ठाकुर साहब जैसे टाइटल या जाती लिखी थीं।

इस संदर्भ में नोएडा पुलिस ने एक प्रेस रिलीज जारी करते हुए ढेर सारी तस्वीरें पोस्ट की। इन तस्वीरों में बाइक और कारें थी, जिन पर बहुत सारे जातियों के नाम लिखे हुए थे, जाट, गुर्जर, ब्राह्मण, चौधरी, खान, यादव आदि। किसी ने पार्टी के पोस्टर लगा रखा था तो किसी ने ‘पुलिस’ लिख रखा था। किसी की गाड़ी पर नंबर प्लेट में कलाकारी की गई थी तो किसी में अजीब से डिजाइन बने हुए थे। इन सब पर पुलिस ने ‘ऑपरेशन क्लीन-7’ के तहत कार्रवाई की।

नोएडा पुलिस का साढ़े तीन घंटे का ये ऑपरेशन बहुत व्यापक था। कुल 1 हजार 457 वाहनों का चालान काटा गया, 99 गाड़ियां जब्त की गई। 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया। शहरी इलाके में 561 गाड़ियों का चालान काटा, 62 वाहन जब्त किए। ग्रामीण इलाके में 295 गाड़ियों का चालान काटा, 37 गाड़ियां सीज़ की। साथ में ट्रैफिक पुलिस ने भी 601 गाड़ियों का चालान किया। इस ऑपरेशन में चोरी के मोबाइल, एक तमंचा, एक जिंदा कारतूस, एक खोखा कारतूस, एक देसी पिस्टल, और इसके साथ पांच जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए।

नंबर प्लेट के नियम

फैन्सी और अलग-अलग डिजाइन वाली नंबर प्लेट बनवाना गैरकानूनी है. सेंट्रल मोटर व्हिकल एक्ट 1989 के मुताबिक दोपहिया/तीन पहिया गाड़ियों के नंबर प्लेट का साइज 200X100 mm होना चाहिए। कारों की नंबर प्लेट का साइज 500X120 या 340X200 mm होना चाहिए। भारी वाहनों की नंबर प्लेट 340X200 mm की निर्धारित की गई है।

ऑपरेशन क्लीन के तहत नोएडा पुलिस गाड़ियों की ब्लैक फ़िल्म भी उतार रही हैं और टिंटेड ग्लास वाली गाडियों के चालान भी किए जा रहे हैं। गौतमबुद्धनगर के एसएसपी वैभव कृष्ण का कहना है कि ऐसी कार्रवाई आगे भी चलती रहेगी। फिलहाल पुलिस की इस कार्रवाई को सोशल मीडिया पर जमकर वाहवाही मिल रही है।

Leave a Reply