राजस्थान के सीकर के उद्योग नगर थाने में एक युवती ने एक युवक के खिलाफ गलत धर्म बता कर फर्स्ट ईयर में पढ़ने वाली एक युवती को जबरदस्ती होटल में ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाया है। पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पीड़ित युवती का आरोप है कि खिरोड़, झुंझुनू के रहने वाले सुरेश उर्फ आसिफ ने होटल में ले जाकर नशे की गोलियां खिला कर अपने दोस्तों के साथ कई बार दुष्कर्म किया।

बस में हुई थी मुलाकात

पीड़िता ने बताया कि आसिफ से उसकी पहली मुलाकात बस में जाते समय हुई थी। तब उसने अपना नाम सुरेश बताया था। वह उसे दोस्ती बनाने के लिए दबाव बनाने लगा। बाद में उसे पता लगा कि उसका नाम आसिफ है। उसने दोस्ती करने से मना कर दिया तो वह कॉलेज में आते-जाते समय रास्ता रोक कर धमकी देने लगा। घर जाकर धमकी देने लगा। उसे फोन पर बात करने के लिए दबाव बनाने लगा। उसे मना किया तो उसे कॉलेज में जाते समय पकड़ लिया।

अपहरण करके होटल ले गया

आसिफ ने 27 जुलाई को उसे फोन कर पेट्रोल पंप के पास धमकी देकर मिलने के लिए बुलाया। इसके बाद उसने जाने से मना कर दिया तो उसे जान से मारने की धमकी दी। उसने कहा कि कॉलेज आने-जाने से बंद कराने की धमकी दी। परेशान होकर युवती पेट्रोल पंप के पास पहुंची। इसके बाद वहां पर खड़े चार-पांच युवकों ने उसे बोलेरो गाड़ी में खींच कर डाल दिया। वह चीखने लगी तो उसका मुंह बंद कर दिया। इसके बाद चिल्लाने पर जान से मारने की धमकी दी। वे बाइपास की ओर एक होटल में ले गए।

होटल में पीड़ित युवती को जबरन नशीली गोलिया खिलाकर सुरेश उर्फ आसिफ और कालू ने जबरन बलात्कार ( Gangrape in Hotel ) किया। उन लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया और अश्लील वीडियो बना लिए। उन्होंने होटल के कमरे में ही किसी को बताने पर जान से मारने और वीडियो वायरल करने की धमकी दी। परिजनों और पुलिस को बताने पर भी उसके साथ मारपीट की गई। बदहवास स्थिति में उसे वापस छोड़ गया। आसिफ घर पर आ गया। घर पर ही उसने धमकी देकर उठा ले जाने के लिए कहा।

पीछा छोड़ने के बदले में रुपए मांगे

इसके बाद आसिफ ने उसे मोबाइल में वीडियो फोटो दिखाकर धमकियां दी और बार-बार ब्लैकमेल कर उससे दुष्कर्म करता रहा। डर के कारण पीड़ित युवती ने कॉलेज जाना भी छोड़ दिया। जिसके बाद आसिफ घर आ गया और उससे कहा कि तेरा पीछा छोड़ने के लिए तुझे पैसे देने होंगे और उससे 25000 रुपये ले लिए। युवती ने आसिफ के साथ एक महिला का नाम भी पूरे षडयंत्र में बताया है। उसी महिला ने पीडिता को धमकाया और गांव के स्टैंड पर आकर उसे कई बार रुपए भी लिए।

किशोरी के पिता नही है

बता दें, किशोरी के पिता नहीं है आसिफ ने इसका नाजायज फायदा उठाया। पिता के ना होने के डर से उसने किसी को कुछ नहीं बताया। बहुत ज्यादा परेशान होने पर नाबालिग ने रिश्तेदारों को घटनाक्रम के बारे में बताया। इसके बाद उद्योगनगर थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया। उद्योग नगर थाना अधिकारी विरेंद्र शर्मा ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि शिकायत के आधार पर आसिफ के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और आरोपी की तलाश की जा रही है।