इलेक्ट्रॉनिक्स सामान निर्माता कंपनी सैमसंग ने दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल कारखाना जहाँ स्थापित किया है यह जगह चीन, दक्षिण कोरिया या अमेरिका नहीं हैं बल्कि दुनिया के सबसे बड़े मोबाइल फैक्ट्री आज से नोयडा यूपी में चालू होने जा रही है।

नोएडा के सेक्टर 81 में स्थित सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स की 35 एकड़ में फैली इस फैक्ट्री का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन सोमवार को करेंगे। उनके हेलीकाप्टर को उतारने के लिए फैक्ट्री के पास ही हेलीपैड बनाया गया है।

देश में 1990 के दशक की शुरुआत में पहला इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण केंद्र स्थापित हुआ जिसमें 1997 में टीवी बनना शुरू हुआ। मौजूदा मोबाइल फैक्ट्री 2005 में लगाई गई, पिछले साल जून में दक्षिण कोरियाई कंपनी ने 4,915 करोड़ रुपये का निवेश कर नोएडा प्लांट में विस्तार करने का ऐलान किया, जिसके एक साल बाद नई फैक्ट्री अब दोगुना उत्पादन करने के लिए तैयार है।

भारत में कंपनी इस समय 6.7 करोड़ स्मार्टफोन बना रही है और नए प्लांट के चालू हो जाने पर तकरीबन 12 करोड़ मोबाइल फोन की मैन्यूफैक्चरिंग होने की संभावना है। नई फैक्ट्री में न सिर्फ मोबाइल बल्कि सैमसंग के कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे रेफ्रिजरेटर और फ्लैट पैनल वाले टेलीविजन का उत्पादन भी दोगुना हो जाएगा और कंपनी इन सारे सेगमेंट में नंबर वन की भूमिका में बनी रहेगी।

सैमसंग के दो विनिर्माण संयंत्र हैं – नोएडा में और श्रीपेरंबुदुर , तमिलनाडु में – पांच आर एंड डी केंद्र, और नोएडा में एक डिजाइन सेंटर, 70,000 से अधिक लोगों को रोजगार और 1.5 लाख से अधिक खुदरा दुकानों में अपने नेटवर्क का विस्तार किया है।

सैमसंग इंडिया के अध्यक्ष और सीईओ एचसी हांग के मुताबिक, एक बड़ा विनिर्माण संयंत्र देश भर में सैमसंग उत्पादों की बढ़ती मांग को पूरा करने में उनकी मदद करेगा।