आम आदमी पार्टी (AAP) की महिला विधायक अलका लांबा ( Alka Lamba) अब नई राजनैतिक पार्टी तलाश रही है। पिछले साल दिल्ली विधानसभा में राजीव गांधी से भारत रत्न वापसी के प्रस्ताव लाये जाने के बाद से ही अलका लांबा से AAP के मुखिया अरविंद केजरीवाल नाराज चल रहे है। यहाँ तक कि उन्होंने अलका लांबा को ट्विटर पर भी अनफॉलो कर दिया हैं, और खबर है कि उन्हें पार्टी के Whatsapp ग्रुप से भी हटा दिया गया हैं। ऐसे में एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में अलका लांबा ने कांग्रेस में जाने की इच्छा जताई हैं।

नवोदय टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में अलका लांबा ने कहा है कि, ‘मेरी इच्छा चांदनी चौक से सांसद बन कर संसद में पहुंचने की है। मैं अपने क्षेत्र के लोगों की समस्याओं को दूर करने और महिलाओं की आवाज उठाने के लिए संसद जाना चाहती हूं। लेकिन, यह निर्णय कांग्रेस को लेना है।’ हालांकि उन्होंने आगे कहा कि इस बारे में उनकी कांग्रेस से कोई बात नहीं हुई है और ना ही वह कांग्रेस ज्वाइन कर रही है। यह कांग्रेस पर निर्भर करता है कि वह उन्हें बुलाती है या नही। आपको बता दें, आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi party) में शामिल होने के पहले वह कांग्रेस में ही थी।

नए राजनीतिक विकल्पों की तलाश में अलका लांबा ने पहले ट्विटर के जरिये बीजेपी के मन की भी थाह लेने की कोशिश की थी। उन्होंने एक ट्वीट करके कहा था कि बीजेपी नेता उन्हें अपनी पार्टी में शामिल करने के लिए सम्पर्क में है। हालांकि बीजेपी ने उन्हें कोई भाव नही दिया, उल्टा उनके इस दावे के बाद सोशल मीडिया में बीजेपी समर्थक ने उनका विरोध भी शुरू कर दिया। जिसके बाद उनके विकल्प के तौर पर कांग्रेस ही बचती है।

आम आदमी पार्टी से उनके तल्ख हो रहे रिश्ते और बीजेपी में कोई संभावना ना होने की वजह से अलका के पास ले देकर उनका पुराना राजनीतिक घर कांग्रेस ही बचता है, जहां पर उनको चांदनी चौक से लोकसभा का टिकट दिया जाना संभव हो सकता।

1 COMMENT

Leave a Reply