स्वतंत्र पत्रकारिता की पक्ष में बड़ी-बड़ी बाते करनी वाली कांग्रेस की कथनी और करनी की पोल उत्तरप्रदेश के सोनभद्र जिले में उस वक्त खुल गयी जब कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा गांधी के सामने ही ABP न्यूज़ के पत्रकार और कैमरामैन के साथ प्रियंका के बाउंसरों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मारपीट की। इस दौरान पत्रकार प्रियंका गाँधी से बीच-बचाव के लिए गुहार लगाता रहा लेकिन कांग्रेस महासचिव चुप्पी साधे रहीं।

दरअसल, प्रियंका गाँधी मंगलवार को सोनभद्र के उम्भा गाँव में नरसंहार पीड़ितों के परिजनों से मिलने पहुंची थीं। इसी दौरान एबीपी गंगा न्यूज़ चैनल के रिपोर्टर नीतीश पांडे ने उनसे धारा 370 को लेकर कांग्रेस की राय जाननी चाही तो इसे सुनकर प्रियंका गाँधी के सचिव और राहुल गाँधी के सलाहकार संदीप सिंह ने रिपोर्टर पर हमला कर दिया।

कांग्रेस कार्यकर्ता ने रिपोर्टर से कहा, तुम्हें समझ नहीं आ रहा है। अभी ठोंक के यहीं बजा देंगे, मारेंगे तो गिर जाओगे। रिपोर्टर बार-बार बस इतनी ही बात कहता रहा कि प्रियंका जी देखिए आपके सामने धक्का मारा जा रहा है। प्रियंका के सामने ही धक्कामुक्की की गई पर प्रियंका ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

इतना ही नहीं, संदीप सिंह ने नीतेश पांडेय के जान से मारने धमकी दी और उन्हें अपशब्द भी कहे। साथ ही संदीप सिंह ने एबीपी गंगा के कैमरामैन को भी अपशब्द कहे। इतनी बड़ी घटना होने के बावजूद प्रियंका गांधी वहां मौन खड़ी रहीं। प्रियंका के सामने ही संदीप सिंह पत्रकार के साथ गुंडई करता रहा, लेकिन प्रियंका गांधी ने संदीप सिंह को रोका तक नहीं और बिना कुछ बोले वहां से निकल गयीं।

इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो पीड़ित पत्रकार के कैमरामैन ने शूट कर लिया है जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पत्रकार मौके पर थोड़ी दूर मौजूद प्रियंका गांधी को संबोधित कर उनके सचिव की धमकी वाली हरकत को बताता रहा पर प्रियंका गांधी ने इसे सुन कर अनसुना कर दिया। प्रियंका का सचिव लगातार टीवी पत्रकार को धमकाता रहा और बीजेपी से पैसे लेकर यहां कवरेज करने आने का आरोप लगाता रहा।

इस घटना के बाद पत्रकार संघ में भी काफी गुस्से में है। संघ के अध्यक्ष ने उत्तर प्रदेश के डीजीपी को इस घटना के बारे में बताया है। पत्रकार संघ ने संदीप सिंह के खिलाफ जान से मारने की धमकी का केस दर्ज कराने की मांग की है।

वहीं, एबीपी गंगा के रिपोर्टर पर हमले की घटना की भाजपा ने निंदा की है। योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने एबीपी गंगा के साथ बातचीत में कहा कि कांग्रेस मानसिक तौर पर बौखला गई है। लोकतंत्र में ऐसे व्यवहार का कोई स्थान नहीं है। महाना ने कहा कि मामला दर्ज होने पर आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।