पाकिस्तान (Pakistan) की पहली महिला अंतरिक्ष यात्री नामिरा सलीम (Astronaut Namira Salim) ने चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) मिशन पर भारतीय अंतरिक्ष और अनुसंधान संगठन (ISRO) को बधाई दी है। नामिरा ने चंद्रमा पर लैंडिंग करने के भारत एजेंसी के ऐतिहासिक प्रयास की सराहना की है।

कराची में छपने वाली साइंस मैगजीन साइंटिया में छपे एक बयान में नामिरा ने कहा, “मैं भारत और इसरो को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर विक्रम लैंडर के द्वारा सॉफ्ट लैंडिंग का ऐतिहासिक प्रयास किए जाने पर बधाई देती हूँ।”

उन्होंने कहा, ‘चंद्रयान-2 का चंद्रमा मिशन वास्तव में दक्षिण एशिया के लिए एक विशाल छलांग है, जो न केवल इस क्षेत्र को, बल्कि पूरे वैश्विक क्षेत्र के उद्योग को गौरवान्वित करता है।’ उन्होंने कहा, ‘दक्षिण एशिया से अंतरिक्ष के सेक्टर में क्षेत्रीय विकास मायने रखता है, फिर चाहे उसे किसी भी देश ने लीड क्यों न किया हो। अंतरिक्ष हमें एक करता है, पृथ्वी पर हमें विभाजित करने वाली सभी राजनीतिक सीमाएं वहां समाप्त हो जाती हैं।’

नामिरा यान वर्जिन गेलेक्टिक में सवार होकर अंतरिक्ष में जाने वाली पहली पाकिस्तानी के रूप में जानी जाती हैं। नामिरा लगातार स्पेस मिशन में काम कर रही हैं और वह पाकिस्तान की महिलाओं के लिए सशक्तीकरण का एक चेहरा भी बन चुकी हैं।

बता दें, अंतरिक्ष में भारत की सफलताओं से पाकिस्तान के कई लोग खुश नहीं होते हैं और सोशल मीडिया पर ट्रोल करने का मौका तलाशने लगते हैं। चंद्रयान- 2 मिशन के दौरान लैंडर विक्रम से संपर्क टूटने के बाद भी ऐसा ही हुआ। पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी तो भद्दी टिप्पणी की वजह से अपने घर में भी घिर गए। ऐसे में नामिरा की तारीफ काफी मायने रखती है।