भारत को परमाणु युद्ध की गीदड़ भभकी देने वाले पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो चुकी है। इसे सुधारने के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान लगातार कोशिश कर रहे है लेकिन उनके हाथ लगातार निराशा ही लग रही है। ऐसे में अब पाकिस्तान सरकार कुत्तों के जरिए राजस्व बढ़ाने की योजना बना रही है, ताकि बिगड़ती अर्थव्यवस्था पर लगाम कसी जा सके।

बता दें, कल शुक्रवार को कंगाली की कगार पर खड़े पाक को एफएटीएफ ने ब्लैक लिस्ट में डाल दिया था। जिसकी वजह से दुनिया से मिलने वाली आर्थिक सहायता में भी उसे परेशानी होगी। कंगाली से बचने के लिए पाकिस्तान ऐसे ही अजीबोगरीब कदम उठा रहा है, अभी कुछ समय पहले पाकिस्तान ने गधों के जरिए राजस्व कमाने का प्लान बनाया था और पाकिस्तान से चीन को गधे निर्यात करने की योजना बनाई गयी थी।

चीन में गधों की चमड़ी से दवाएं बनाई जाती है जिन्हें काफी प्रतिरोधक माना जाता है। गौरतलब है कि पाकिस्तान दुनिया में ऐसा तीसरा देश है जहां सबसे ज्यादा 50 लाख गधे हैं, हालांकि चीन में सबसे ज्यादा गधों की संख्या है। अब सिंध प्रांत ने इमरान सरकार को कुत्तों को बेचकर राजस्व बढ़ाने की सलाह दी गई है।

खबरों के मुताबिक पाकिस्तान के सिंध प्रांत की असेम्बली में एक बिल पेश हुआ है जिसके मुताबिक, पाकिस्तान के कुत्तों को चीन और फिलीपीन्स में बेचने की बात कही गई है। इस बिल के अनुसार पाकिस्तान के गली-मोहल्लों में इतनी बड़ी संख्या में स्ट्रीट डॉग घूम रहे हैं कि अगर उन्हें ढंग से पाल पोसकर ब्रीडिंग करवाए और चीन को बेचें तो पाकिस्तान के गली-मोहल्ले भी पाक हो जाएंगे और माली हालात भी सुधर जाएगी।

पिछले दिनों अंतरराष्ट्रीय मुद्दा कोष ने कहा था कि अगर पाकिस्तान ब्लैक लिस्ट में आता है तो उसे कर्ज मिलने में काफी परेशानी होगी। पाकिस्तान के ब्लैक लिस्टेड होने से उसे आईएमएफ से मिलने वाले 6 अरब डॉलर के कर्ज पर भी रोक लगाई जा सकती है।

वहीं, दूसरी तरफ पाकिस्तान का कर्ज 10 साल में 6,000 अरब पाकिस्तानी रुपए से बढ़कर 30 हजार अरब पाकिस्तानी रुपए तक पहुंच गया है। यह कर्ज पाक के कुल जीडीपी का 91.2 प्रतिशत है। परिणामस्वरूप अमेरिकी डॉलर की कमी हो गई तथा महंगाई आसमान छू रही है तथा यह 1 साल में 11 प्रतिशत हो गई है। ऐसे में पाकिस्तान पर डिफॉल्टर होने का खतरा भी मंडरा रहा है, जबकि प्रधानमंत्री इमरान खान शेखचिल्ली की तरह परमाणु बम की धमकी देकर कश्मीर हथियाने का सपना देख रहे है।