भ्रष्टाचार के मामले पूर्व गृह मंत्री पी. चिदंबरम (P Chidambaram) को बुधवार की रात को सीबीआई (CBI) की टीम ने गिरफ्तार किया। इस घटना के बाद से अब तक कई विपक्षी नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ की है। बहरहाल बता दें की कांग्रेस के शासन काल में ज्यादातर कोंग्रेसी नेताओं के हाँथ घोटालों के दाग से गंदे हैं। ऐसे में चिदंबरम की गिरफ्तारी के बाद दूसरे नेताओं पर पीएम मोदी की गाज ना गिरे इसलिए भी कांग्रेस लीडर मोदी की तारीफ़ में कसीदें पढ़ सकते हैं। हालांकि ह्रदय परिवर्तन जैसी बात राजनीति में बिरले ही देखने को मिलती है इसीलिए इसकी संभावना नगण्य लगती है।

इसकी शुरुआत यूपीए सरकार में केंद्रीय मंत्री रह चुके कॉंग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश से हुई जिन्होंने बुधवार को कहा था कि “यह वक्त है कि मोदी के काम और 2014 से 2019 के बीच उन्होंने जो किया उसके महत्व को समझे। जिसके कारण वह सत्ता में लौटे। उन्होंने आगे कहा कि “मोदी के शासन का मॉडल ‘पूरी तरह नकारात्मक गाथा’ नहीं है। उन्होंने आगे कहा – “2014 से 2019 तक मोदी सरकार ने बिजली के क्षेत्र में, उज्ज्वला योजना के जरिए लाखों लोगों को फायदा पहुंचाया है, यही कारण है कि लोगों ने उनपर विश्वास जताया और विपक्ष को इस बात को स्वीकार करना चाहिए।”

जयराम रमेश के बाद कांग्रेस के एक और बड़े नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी जयराम रमेश की बातों का समर्थन करते हुए ट्वीट किया, ‘मैंने हमेशा कहा है कि मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है। सिर्फ इसलिए नहीं कि वह देश के प्रधानमंत्री हैं, बल्कि ऐसा करके एक तरह से विपक्ष उनकी मदद करता है।’ काम हमेशा अच्छा, बुरा या मामूली होता है। काम का मूल्यांकन व्यक्ति नहीं बल्कि मुद्दों के आधार पर होना चाहिए। जैसे उज्ज्वला योजना कुछ अच्छे कामों में एक है।

इसी कड़ी में कांग्रेस के एक और वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने एक ट्विटर यूज़र के सवाल के जवाब में लिखा कि, ‘वे तो 6 साल से मोदी की न्यायोचित तारीफ पर ज़ोर दे रहे हैं, ताकि जब वे आलोचना करें तो उसमें कोई विश्वसनीयता हो।। मैं अपने साथियों के बयान का स्वागत करता हूँ, जिसकी पैरवी मैं बहुत पहले से कर रहा था।’

आज दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी आर्थिक मंदी की अफवाहों के बीच कहा है कि उन्हें मोदी सरकार पर पूरा भरोसा है। ज्ञात हो कि अरविंद केजरीवाल पर भ्रष्टाचार के कई मामले दर्ज हैं। आईएएस अधिकारी के मारपीट मामले में वह चार्जशीटेट भी हैं।

 

कितनी अजीब बात है ना जो नेता मोदी को गाली देते नहीं थकते आज वो सब मोदी की प्रशंसा करने में जुटे हैं। यही सारे नेता मोदी सरकार को चुनौती देते हुए कहते थे कि अगर कुछ गलत किया है, भ्रष्टाचार किया है तो गिरफ्तार करके दिखाओ। आज एक नेता को सीबीआई ने रिमांड पर क्या लिया, सारे के सारे नेता मोदी के गुण गाने लगे।