बिजनौर जिले में दिल्ली की एक महिला को प्रेमजाल में फंसाकर फर्जी निकाह करने, पांच लाख रुपये हड़पने और असलियत सामने आने पर बलात्कार करके छोड़ने का मामला सामने आया है। अब महिला की शिकायत पर जालसाज व्यक्ति, शादी कराने वाले मौलवी और तीन अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

नई दिल्ली की गोविंदपुरी कालका निवासी एक महिला ने पुलिस को दी तहरीर में कहा है कि उसके पति की कई वर्ष पूर्व मौत हो गई थी और उसके एक बच्चा भी है। तीन वर्ष पूर्व वह किसी काम से दिल्ली से बिजनौर आ रही थी। उसकी बस में नगीना के मोहल्ला कलालन नई बस्ती निवासी फराज से मुलाकात हुई। बातचीत में फराज ने अपने आपको प्रॉपर्टी डीलर बताते हुए अपना मोबाइल नंबर मुझे दे दिया और मेरा नंबर ले लिया था। इसके बाद मुझे फोन करने लगा। हम दोनों की कई घंटे बातचीत होने लगी।

महिला के मुताबिक, एक दिन फराज ने उसे फोन करके नगीना बुलवाया और प्यार का झाँसा देकर उससे निकाह करने की बात कही। महिला उसके इस जाल में फँसती गई और निकाह के लिए हाँ कर दिया। फराज ने अक्टूबर, 2016 में मौलवी को बुलवाकर अपने तीन दोस्तों के सामने पहले उसका धर्म परिवर्तन करवाया फिर मौलाना से फर्जी निकाह पढ़वा दिया। इसके बाद उसने महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाए और 5 लाख रुपए भी लिए। कुछ दिन तक सब ठीक चलता रहा, लेकिन कुछ दिन बाद वह महिला से दूरियाँ बनाने लगा।

महिला को इस दौरान कहीं से पता चला कि फराज ने जो उससे निकाह किया है वो फर्जी है और वह इस तरह लड़कियों को फँसाकर उन से पहले भी रूपए हड़प चुका है। जिसके बाद वह जुलाई 07, 2019 को नगीना में स्थित फराज के घर पहुँची, जहाँ फराज ने फिर से महिला का बलात्कार किया। इसके बाद फराज ने महिला को दिल्ली चलने के नाम पर को बस अड्डे भेज दिया, लेकिन खुद वहाँ नहीं गया। फराज ने महिला को धमकी भी दी कि यदि उसने इस मामले की शिकायत पुलिस से की तो वह उसकी अश्लील वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर देगा।

इस मामले में थाना प्रभारी राजेश तिवारी ने बताया कि पीड़ित महिला की तहरीर पर फराज और मौलाना तथा तीन अन्य के खिलाफ धोखाधड़ी करने धर्म परिवर्तन कराने सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। आरोपी फरार है और उनकी गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है।