कर्नाटक में मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के बारे में सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक वीडियो पोस्ट करने के कारण 2 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है। इन दोनों लोगों पर मुख्यमंत्री व उसके रिश्तेदारों को गाली देने का आरोप है। दोनों आरोपियों के बारे में कहा जा रहा है कि उन्होंने सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में मुख्यमंत्री कुमारस्वामी को गालियाँ दी हैं। इस वीडियो को लोकसभा चुनाव के मतगणना के दिन फेसबुक तथा अन्य सोशल मीडिया साइटस पर शेयर किया गया था। गिरफ्तार हुए दोनों आदमियों पर आरोप है कि उन्होंने इस वीडियो में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के बेटे निखिल को भी गालियाँ दी हैं। इसके अलावा जेडीएस के प्रथम परिवार के अन्य सदस्यों के बारे में बुरा-भला कहने का भी आरोप इन दोनों पर लगाया गया है। 

दोनों आरोपियों के नाम सिद्दाराजू (उम्र 26 वर्ष) और चमाराजू (उम्र 28 वर्ष) हैं। इनमें से एक आरोपी पेट्रोल पंप पर काम करता है जबकि दूसरा आरोपी टैक्सी ड्राईवर है। पुलिस ने दोनों आरोपियों के ख़िलाफ़ धारा 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान करना) और धारा 505 (2) (वर्गों के बीच शत्रुता या शत्रुता की इच्छा को बढ़ावा देना) के तहत मामला दर्ज किया गया है। स्थानीय अदालत ने दोनों आरोपियों को पुलिस कस्टडी में रिमांड पर भेज दिया है।

बताया जा रहा है कि दोनों आरोपी जेडीएस के कट्टर समर्थक हैं और हालिया लोकसभा चुनाव में जेडीएस के ख़राब प्रदर्शन से नाराज़ थे। बता दें कि जेडीएस को इस लोकसभा चुनाव में पूरे राज्य में मात्र एक सीट आई। यहाँ तक कि मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के पिता और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौडा और मुख्यमंत्री के बेटे निखिल कुमारस्वामी को भी हार का मुँह देखना पड़ा। जेडीएस के साथ मिल कर कर्नाटक की सत्ता पर काबिज़ कांग्रेस को भी पूरे राज्य में मात्र एक सीट मिली। वहीं भारतीय जनता पार्टी ने 28 में से 25 सीटें जीत कर राज्य में चुनाव को बिलकुल एकतरफ़ा कर दिया था। 

एक पुलिस अधिकारी के अनुसार, दोनों आरोपियों ने बताया कि वे मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के परिवारवाद की राजनीति से नाराज़ हैं। उनका मानना है कि जेडीएस के ख़राब प्रदर्शन के पीछे यही वजह है और जेडीएस भी परिवारवाद के मामले में कांग्रेस से बुरी तरह से प्रभावित है। पुलिस ने इस मामले में जेडीएस कार्यकर्ताओं द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के बाद कार्रवाई शुरू की। इससे पहले अगस्त 2018 में 24 वर्षीय प्रशांत पुजारी को कुमारस्वामी के ख़िलाफ़ इन्स्टाग्राम पर आपत्तिजनक पोस्ट करने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था।

मई 2019 के अंतिम सप्ताह में कर्नाटक में एक कन्नड़ समाचारपत्र के संपादक के ख़िलाफ़ सिर्फ़ इसीलिए मामला दर्ज किया गया था, क्योंकि अख़बार में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के बेटे निखिल के बारे में लेख छपा था। इस लेख में कहा गया था कि हार के बाद निखिल ने अपने दादा एच डी देवेगौड़ा को काफी भली बुरी बातें कही और परिवार में इसको लेकर बहुत समय तक तनाव भी रहा।