कई दिन की शांति में बाद साउथ कश्मीर के शोपियां में एक और सुबह आतंकियों के लिए मौत बनकर आयी। जब राष्ट्रीय राइफल, सीआरपीएफ और एसओजी की जॉइंट टीम ने जैनापोरा के अवनीरा गांव में अंधेरा छंटने से पहले ही एक मकान में छिपे अल-बग़दादी के दो गुर्गों को घेर लिया। सरेंडर न करने पर सुरक्षा बलों ने दोनों आतंकियों को ढेर कर दिया। दोनों आतंकियो के शव बरामद कर लिया गया है, जिनके पास से राइफल्स, मैगज़ीन और गोला-बारूद बरामद हुआ है।

दोनों की पहचान लोकल आतंकी के तौर पर हुई है, एक शाकिर अहमद वागे अवनीरा, शोपियां का ही रहने वाला था, जबकि सायर अहमद भट कुलगाम निवासी था। 23 मई को ज़ाकिर मूसा के मरने के बाद इस्लामिक स्टेट ने विलाया-हिन्द (Hind Province) के नाम से नया चैप्टर शुरू किया था। हाल ही में जारी इसके प्रोपगैंडा वीडियो में सायर ने अल-बगदादी को अपना अमीर मानने को कहा था।

राज्य में पिछले कई दिनों से लगातार एंकाउंटर चल रहे हैं। सुरक्षाबल राज्य में आतंक के खात्मे के मिशन पर लगे हुए हैं। इसी के तहत सुरक्षाबलों को आज ये और बड़ी कामयाबी मिली। इस मुठभेड़ के बाद फिलहाल इलाके में सुरक्षाबलों ने सर्च आपरेशन शुरू कर दिया है। क्योंकि आशंका है कि इस इलाके में कुछ आतंकी छिपे हो सकते हैं।

दो दिन पहले ही राज्य के राज्यपाल ने केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। जिसके बाद राज्य में आतंकवाद के खात्मे के लिए केन्द्र सरकार ने अपनी रजामंदी दी थी। फिलहाल अभी राज्य में राज्यपाल शासन है और विधानसभा भंग है। राज्य में विधानसभा चुनाव भी होने हैं। इस बीच इस साल मारे गए आतंकियों की संख्या 109 हो गयी है।