लोकसभा चुनावों के दौरान हार्वेस्ट टीवी नाम के साथ एक न्यूज चैनल शुरू हुआ था लेकिन कुछ कॉपीराइट विवाद के बाद इस चैनल का नाम बदलकर तिरंगा टीवी कर दिया गया। जिसके मालिक पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल है, इस चैनल में बरखा दत्त और करण थापर जैसे बड़े नाम वाले पत्रकार भी जुड़े हुए है।

लोकसभा चुनावों परिणामों को आये अभी एक महीना भी नही बीता था कि चैनल में छंटनी की खबरे आनी शुरू हो गयी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कई पत्रकारों ने अच्छी ख़ासी नौकरियां छोड़कर तिरंगा टीवी जॉइन की थी, परंतु उन्हें अधर में लटकाते हुए केवल एक महीने के अतिरिक्त वेतन के साथ छोड़ दिया गया।

निकाले गए कर्मचारियों ने कपिल सिब्बल से सोशल मीडिया पर इंसाफ़ की गुहार भी लगाई, लेकिन कपिल सिब्बल ने इनकी कोई बात नही सुनी। कर्मचारियों का आरोप था कि कपिल सिब्बल के तिरंगा चैनल ने उन्हें बिना किसी पूर्व सूचना के, बिना कम्पंशेटरी सैलरी दिए नौकरी से निकाल दिया है।

इस मामले को सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद लोगो ने तिरंगा टीवी में काम कर रही बरखा दत्त को निशाने पर लेना शुरू कर दिया और उन्हें इस मामले में दखल देने के लिए कहने लगे। हालांकि बरखा दत्त ने उस समय इस अपील का जवाब देते हुए कहा था कि उनका कंपनी के प्रबंधन से कोई लेना देना नहीं है। लेकिन आज हैरतअंगेज तरीके से उन्होंने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए ट्विटर पर कपिल सिब्बल और उनकी पत्नी को निशाने पर लेते हुए सारी हकीकत का पर्दाफाश कर दिया।

बरखा दत्त ने अपने ट्विटर पर कपिल सिब्बल को निशाना बनाते हुए लिखा कि वे और उनकी पत्नी द्वारा चलाए जा रहे तिरंगा टीवी में भयावह स्थिति है। यहाँ 200 से ज्यादा कर्मचारियों को बिना 6 महीने की सैलरी दिए निकाल दिया गया है। उन्होंने कहा एक व्यक्ति (कपिल सिब्बल) जो जनता के बीच में खुद को बिलकुल साफ़ दिखाता है, वो पत्रकारों के साथ घिनौना बर्ताव कर रहा है।

बरखा ने कहा कि कपिल सिब्बल ने वादा किया था कि चैनल को कम से कम 2 साल तक चलाया जाएगा। इस वजह से अधिकतर लोग यहाँ अच्छे जॉब ऑफर और अपनी स्थायी नौकरी छोड़कर आए थे, लेकिन जब कर्मचारियों को निकाला गया तो न कपिल सिब्बल ने स्टाफ से बात की और न ही उनकी पत्नी ने। बल्कि सभी लाइव प्रोग्रामिंग को 48 घंटों के लिए रद्द कर दिया गया।

बरखा कपिल सिब्बल की पत्नी पर ज्यादा गुस्से में नजर आयी, उन्होंने कहा कि मीट फैक्टरी चलाने वाली कपिल सिब्बल की पत्नी तिरंगा TV के ऑफिस में चिल्लाकर कहती थीं कि उन्होंने मजदूरों को एक पैसा दिए बिना फैक्टरी बंद कर दी थी तो ये पत्रकार कौन होते हैं 6 महीने की सैलरी माँगने वाले!

एक और महत्वपूर्ण खुलासा करते हुए बरखा दत्त ने यहां तक बताया कपिल सिब्बल और उनकी पत्नी ने चैनल की महिला स्टाफ के साथ बेहद अशोभनीय व्यवहार भी किया था। बरखा ने बताया कि कपिल सिब्बल की पत्नी महिला कर्मचारियों को “कुतिया” और बिच कहकर बुलाती थी। इस संबंध में उन्होंने महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा को टैग करके कहा कि इस बात को साबित करने के लिए उनके पास हस्ताक्षर किए हुए हलफनामे भी हैं।

बरखा ने इस मामले को शर्मनाक बताते हुए लिखा है कि कपिल सिब्बल हर दिन करोड़ो रुपए कमाते हैं, लेकिन कंपनी नॉर्म के मुताबिक वो 200 कर्मचारियों को उनका 6 या फिर कम से कम 3 महीने का वेतन नहीं दे सकते हैं। वह 200 से अधिक जिंदगियों को बर्बाद कर रहे हैं।

बरखा दत्त ने इस बात का भी खुलासा किया कि कैसे कपिल सिब्बल इस छंटनी का दोष भी पीएम मोदी पर मढ़ना चाहते थे, जबकि स्वयं बरखा के अनुसार मोदी सरकार ने चैनल के किसी काम में कोई रूकावट नहीं डाली। बरखा ने यह भी बताया कि कैसे उन्हें यह सत्य उजागर करने के लिए मानहानि के मुकदमों की धमकियां दी जा रही है।

बरखा ने मीडिया के लोगों से भी कपिल सिब्बल के खिलाफ आवाज उठाने की माँग की है ताकि उन कर्मचारियों को इंसाफ मिल सके, जिन्हें सिर्फ एक महीने की सैलरी देकर संस्थान से निकाल दिया गया। अब यह देखना बाकी है कि मुख्यधारा की मीडिया कपिल सिब्बल पर क्या प्रतिक्रिया देती है।

1 COMMENT

  1. […] पत्रकार बरखा दत्त (Barkha Dutt) ने ट्विटर पर एक ट्वीट थ्रेड लिख कर कांग्रेसी नेता और पूर्व केंद्रीय […]