देश में साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश टिक टॉक यूजर्स के एक मुस्लिम ग्रुप को महंगा पड़ गया। मुंबई में TikTok यूजर्स के एक ग्रुप द्वारा तबरेज अंसारी की कथित मॉब लिंचिंग से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया में डाला था वो तेजी से वायरल हो गया। वायरल में उसने भड़काऊ शब्दों को इस्तेमाल किया था। जिसके बाद इस मामले में मुंबई पुलिस की साईबर सेल ने ग्रुप के सदस्यों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

वीडियो में कही बदला लेने की बात

इसने अपने वीडियो में कहा- ‘मार तो दिया तुम ने तबरेज को, पर कल जब उसकी औलाद बदला ले तो ये मत कहना मुसलमान आतंकवादी है’। यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया है। वीडियो के वायरल होने के बाद शिवसेना कार्यकर्ता रमेश सोलंकी ने इन लड़कों के खिलाफ मुंबई पुलिस से लिखित तौर पर शिकायत कर उचित कार्रवाई करने की मांग की थी। अब मुंबई पुलिस की साइबर सेल ने इस वीडियो पर उस टिक टॉक यूजर के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

वीडियो में वह यूजर अपने कुछ दोस्तों के साथ नजर आ रहा है और सभी वीडियो में तबरेज अंसारी के सपोर्ट में आपत्तिजनक बातें कह रहे हैं। यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया है। इस संबंध में आईपीसी की धारा 153 (A)के तहत मामला दर्ज किया गया है।

हालांकि, मामला बढ़ता देख कर इन लड़कों ने उस वीडियो को डिलीट कर दिया है और माफी भी मांग ली है, लेकिन शिकायतकर्ता का कहना है कि ऐसे मामले में सिर्फ माफी मांगने से काम नहीं चलेगा बल्कि इन लोगों पर कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए। रमेश सोलंकी का कहना है कि इस तरह का भड़काऊ वीडियो बनाने पर युवा पीढ़ी पर गलत प्रभाव पड़ेगा।

वहीं दूसरी ओर इस मामले के सामने आने के बाद सोशल प्लेटफॉर्म TikTok ने भी कड़ा कदम उठाया है। TikTok ने ग्रुप के सदस्यों का अकाउंट सस्पैंड कर दिया है।

आपको बता दें टिकटॉक एप के जरिए कई लोगों को पॉपुलैरिटी भी मिलती है। इसी पॉपुलैरिटी को पाने के पीछे कभी-कभी लोग इस कदर तक पागल हो जाते हैं कि वे किसी भी प्रकार के आपत्तिजनक कंटेंट शेयर करने से भी गुरेज नहीं करते। यहां तक कि कई मामलों टिक टॉक पर अपने आप को सेलेब्रिटी मानने वाले ऐसे लोग समाज में नफरत फैलाते हुए भी देखे जाते हैं।

1 COMMENT

Leave a Reply