वाराणसी के विश्व प्रसिद्ध संकट मोचन मंदिर में 2006 से भी बड़ा बम विस्फोट करने का धमकी भरी एक पत्र मिला है। इसके बाद सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। पत्र मिलते ही उच्चाधिकारियों के निर्देश पर लंका थाने में पत्र भेजने वाले जमादार मियां और अशोक यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने तफ्तीश शुरू कर दी है। मंदिर के महंत प्रो. विश्वंभरनाथ मिश्र को मिली चिठ्ठी में लिखा है कि मंदिर में मार्च, 2006 से भी बड़ा धमाका किया जाएगा। महंत ने पत्र को गंभीरता से लेते हुए इसकी लिखित सूचना पुलिस को दे दी।

स्थानीय मिडिया के अनुसार, हाथ से लिखा हुआ यह पत्र महंत प्रो. मिश्र के आवास पर भेजा गया। महंत ने इस धमकी भरे पत्र की सूचना गृह मंत्रालय, आईबी और एडीजी जोन को भी दी। एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने धमकी भरे पत्र मिलने की पुष्टि की। मंहत विश्वभर नाथ मिश्रा ने बताया कि वाराणसी के संकट मोचन मंदिर में बम विस्फोट करने का धमकी भरा खत हमें मिला है जो हमने पुलिस को सौंप दिया है। हम सावधानी बरत रहे हैं और मामले की जांच पुलिस कर रही है। यह पत्र खास इसलिए भी हो जाता है, क्योंकि 6 दिसंबर से पहले मिला है। 6 दिसंबर, 1992 को अयोध्या में रामजन्म भूमि पर बना विवादित ढांचा ढहा गया था। हो सकता है, आतंकियों ने इसी को ध्यान में रखते हुए यह धमकी दी हो। पुलिस मामले के हर एंगल पर जांच कर रही है।

मामले पर एसएसपी का कहना है कि पत्र मिलने वाली खबर सही है। इसे गंभीरता से लेते हुए जांच शूरू कर दी गई है। क्राइम ब्रांच पुलिस के साथ आतंकी निरोधी दस्ते (एटीएस) को भी इस पूरे प्रकरण की जांच के लिए लगाया गया है। पत्र भेजने वालों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

हमेशा से ही आतंकियों के निशाने पर रहा है मंदिर

वाराणसी का यह मंदिर शूरू से ही आतंकियों के निशाने पर रहा है। बता दें कि 7 मार्च, 2006 को वाराणसी के संकट मोचन मंदिर, रेलवे कैंट और दशाश्वमेघ घाट पर कई धमाके हुए थे, जिनमें कुल 18 लोगों की मौत हुई थी और कई लोग घायल हुए थे तथा 100 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। जिस समय यह हमला हुआ, उस समय मंदिर में आरती हो रही थी। यह बम धमाका देश के 10 बड़े आतंकी हमलों में से एक माना जाता है। इस धमाके में मंदिर को काफी नुकसान हुआ था। वर्ष 2010 में भी धमाके की कोशिश की गई थी, जिसे पुलिस एवं सुरक्षा एजेंसियों की सतर्कता से विफल कर दिया गया था। अब फिर से इसी मंदिर को उड़ाने धमकी ने पुलिस एवं सुरक्षा एजंसियों के कान खड़े कर दिए हैं।
एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था बढा दी गई है।

लेखक का ट्विटर पता: @ShivangTiwari_