आतंकवादी जाकिर मूसा को सुरक्षा बलों ने किया कश्मीर घाटी में ढेर, घाटी में विरोध प्रदर्शन चालू

- Advertisement -

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के डाडसर गांव में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में भारतीय सुरक्षा बलों ने आतंकवादी जाकिर मूसा को मौत के घाट उतार दिया गया है।

- Advertisement -

आतंकी संगठन अल-कायदा के सहयोगी संगठन गज़ावत-उल-हिंद का सरगना रह चुका मूसा कथित तौर पर पुलवामा जिले के डाडसर के मुठभेड़ में फंसा हुआ था। देर शाम सेना की 42 राष्ट्रीय राइफल्स, एसओजी और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम द्वारा डाडसर गांव को घेर लिया था। क्षेत्र में आतंकवादी कमांडर मूसा की उपस्थिति के खबर इंटेलिजेंस इनपुट से मिले थे। एक पुलिस अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, इनपुट मिलने के बाद क्षेत्र को बंद कर दिया गया था।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि आतंकवादी को संयुक्त टीम द्वारा आत्मसमर्पण करने का अवसर दिया गया था लेकिन उसने सुरक्षा बलों पर गोलियां चला दीं। इसके चलते उन्हें जवाबी कार्यवाही करते हुए गोलियां चलानी पड़ीं, जिससे उनकी मुठभेड़ हुई और उन्होंने जाकिर मूसा को मार गिराया।

इस घटना के बाद इंटरनेट सेवाओं को कथित तौर पर दक्षिण कश्मीर के अधिकांश हिस्सों में निलंबित कर दिया गया है और जल्द ही पूरी घाटी में निलंबित करने की सूचना मिल रही है। कानून और व्यवस्था बनाये रखने के लिए सरकारी निर्देशों के अनुसार घाटी में कल सभी शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे।

स्थानीय सूत्रों के मुताबिक, मूसा को मौत की खबर मिलने को लेकर घाटी में कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन भी हुए हैं। पुलवाला क्षेत्र के त्राल, सोपोर और अन्य स्थानों पर भी कुछ झड़प होने की खबर सामने आयी। कथित तौर पर हजारों लोग उनके अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए मूसा के पैतृक गांव का रुख कर रहे हैं।

Source : OpIndia

- Advertisement -
error: Content is protected !!