प्रतीकात्मक तस्वीर

राजस्थान के पाली शहर के इंदिरा कॉलोनी स्थित में एक मदरसा शिक्षक मौलवी मोहम्मद इमरान (31) को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मौलवी पर आरोप है कि वह मदरसे में पढ़ने वाली बच्चियों पर बुरी नजर डालता था और अश्लील हरकतें करता था। पुलिस के अनुसार, आरोपी मौलवी नागौर के कुम्हारी गांव का रहने वाला है। उस पर पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

बच्चियों ने परिजनों को बताई आपबीती

ब्रेकिंग ट्यूब के मुताबिक, पहले तो बच्चियों ने डरे सहमे घर में कुछ नहीं बताया, लेकिन घरवालों के कई बार पूछने पर बच्चियों ने मौलवी की करतूतों का पर्दाफाश किया और पढ़ने जाने से इनकार कर दिया, तब परिजनों को इसका पता चला। इसके बाद रविवार (23 मई) को परिजनों के साथ ट्रांसपोर्ट नगर थाने पहुंची 10 और 12 साल की दो बच्चियों ने पुलिस को बताया कि आरोपी मौलवी मोहम्मद इमरान उनके साथ अश्लील हरकतें करता तथा भद्दी टिप्पणियां करता है।

मामले की गंभीरता को देखते हुए कार्यवाहक थाना प्रभारी सीतारम ने उच्चाधिकारियों को इसकी जानकारी दी, जिसके बाद मोहम्मद इमरान को फौरन गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा ने बताया कि रविवार सुबह इंदिरा कॉलोनी निवासी परिजन थाने पहुंचे। उन्होंने रिपोर्ट में आरोप लगाया कि उनकी बच्ची मदरसे में पढ़ने जाती है। करीब ढाई माह पूर्व मदरसे में तालीम देने वाले मौलवी नागौर निवासी मोहम्मद इमरान नागौरी (31) पुत्र मोहम्मद अकरम ने उनकी बच्ची से छेड़छाड़ की।

उन्होंने बताया कि घटना के बाद छुट्टियां होने के कारण बच्ची ननिहाल चली गई। गत दिनों बच्ची वापस आई तो परिजनों ने उसे पढ़ने के लिए वापस मदरसे जाने को कहा। इस पर बच्ची ने मना कर दिया। परिजनों के बहुत समझाने और पूछने पर उसने मौलवी द्वारा छेडछाड़ करने की बात बताई। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। जांच में मौलवी द्वारा एक और बच्ची से छेड़छाड़ करना सामने आया है। उन्होंने बताया कि सोमवार (24 मई) को आरोपी मौलवी को कोर्ट में पेश किया जाएगा।