प्रियंका वाड्रा इन दिनों यूपी में राजनैतिक टूर पर हैं।दरअसल प्रियंका गांधी बुधवार सुबह सड़क मार्ग से रामनगर पहुंची। प्रियंका वाड्रा को उनके समर्थको ने माला पहनाई। पास ही लाल बहादुर शास्त्री की मूर्ति लगी हुई थी। किसी ने कहा की उस मूर्ति को आप जाकर माला पहना दीजिये। प्रियंका ने प्रतिमा पर माल्यार्पण तो किया लेकिन इस दौरान अपनी मर्यादा भूल कर प्रियंका गांधी ने खुद का पहना हुआ माला गले से उतार कर लाल बहादुर शास्त्री जी की प्रतिमा पर चढ़ा दिया। शास्त्री जी की मूर्ति पर अपना जूठन माला डाल कर एक महापुरुष का अपमान कर दिया। आप वीडियो में यह साफ तौर पर देख सकते हैं।

भारतीय संस्कृति में किसी को भी अपना जूठन माला नहीं पहनाया जाता है। प्रियंका वाड्रा को या तो भारतीय संस्कृति के बारे में कुछ पता नहीं है या उन्होंने शास्त्री जी का जानबूझकर अपमान किया है। कदाचित प्रियंका वाड्रा की मानसिकता ये भी हो सकती है की सम्मान सिर्फ नेहरु-गांधी परिवार को ही मिलना चाहिए। बाँकी इस देश में सम्मान का हक़दार और कोई नहीं हो सकता भले ही वो इस देश का पूर्व प्रधानमंत्री ही क्यों न हो।

प्रियंका गांधी/वाड्रा के इस तरह से एक महापुरुष के अपमान पर कई लोगों ने आपत्ति जताई है।

सबसे पहले आप केंद्र में मंत्री स्मृति ईरानी का ट्वीट देखिए।स्मृति ईरानी ने कहा ”मुंडी झुकाइएके सर झटकाइएके. गुमान में बिटिया भूल गई मरजाद. आपन गले की उतरन, पहनाए दीहिन. शास्त्री जी के अपमान पर ताली बजाएके, हाथ हिलाइएके, चल दीहलें कांग्रेस बिटिया तोहार”

यूज़र शशि कुमार ने प्रियंका गांधी की नीयत पर सवाल करते हुए कहा, जब आप नेहरू-गांधी परिवार के अलावा किसी और का सम्मान करना नहीं चाहते हो तो क्यों अपमान करो।

यूज़र प्रियंका रंजन ने प्रियंका गांधी को उनके इस कृत्य पर पूरी कांग्रेस को शर्मिंदा होने के लिए कहा है।