पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ईरान के दौरे पर है| मंगलवार को ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी के साथ साझा प्रेस कांफ्रेंस के दौरान इमरान खान ने ऐसी बात बोल दी जिससे पूरे पाकिस्तान को विश्व के सामने शर्मिंदा होना पड़ा|

दरअसल हुआ यूं कि ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी के साथ साझा प्रेस कांफ्रेंस में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि “जितना आप एकदूसरे के साथ व्यापार करते है उतने ही आपके सम्बन्ध एकदूसरे के साथ प्रगाढ़ होते है| जर्मनी और जापान ने द्वितीय विश्वयुद्ध में एकदूसरे के लाखों लोगों को मारा था| लेकिन उसके बाद दोनों ने बॉर्डर पर एकदूसरे के साथ संयुक्त व्यापार करने का फैसला लिया|”

आपको बता दें कि जर्मनी और जापान के बॉर्डर के बीच 7500 किलोमीटर से भी अधिक की दूरी है और जापान एक आइलैंड है जिसकी सीमाएं किसी भी देश से नहीं लगती है| द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद जर्मनी और फ्रांस ने यूरोपियन यूनियन की नींव डाली थी और एकदूसरे के साथ व्यापार स्थापित किये थे| शायद इमरान खान जर्मनी की जगह फ्रांस का नाम लेना चाहते थे या फिर उन्हें विश्व की भौगोलिक स्थिति का ज्ञान नहीं है| लेकिन उनके इस बयान के बाद पूरी दुनिया में उनकी खूब किरकिरी हो रही है, इमरान खान को पाकिस्तानी पप्पू कहें तो को अतिश्योक्ति नहीं होगी|

पीएम इमरान खान के इस बयान के बाद पूरी दुनिया में सोशल मीडिया पर खूब मजाक उड़ाया जा रहा है| यही नहीं पाकिस्तान में भी उनका खूब मजाक उड़ाया जा रहा है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को विश्व की भौगोलिक स्थिति का भी ज्ञान नहीं है| इमरान खान की पूर्व पत्नी रेहम खान ने ट्विट करते हुए उनका मजाक उड़ाया, रेहम खान ने ट्विट करते हुए कहा कि पीएम की इस बेवकूफी पर हसें या रोयें कुछ समझ नहीं आ रहा|

 

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष और मुख्य विपक्षी नेता बिलावल भुट्टो ने ट्विट करते हुए लिखा कि “कितनी शर्मनाक बात है कि हमारे प्रधानमंत्री को यह भी पता नहीं जर्मनी और जापान की सीमाएं एकदूसरे से नहीं लगती है, ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में लोगों को इसलिए जाने देते है कि क्योंकि वो क्रिकेट खेल सकते है|”