5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने बाद से पाकिस्तान पूरी दुनिया में कश्मीर को लेकर रोते फिर रहा है, लेकिन अगस्त महीने में बलोचिस्तान के लोगों पर पाकिस्तानी सेना ने जो कहर बरपाया है, उससे इंसानियत की सारी हदें पार हो चुकी है। पाक सेना ने बलोचिस्तान में 43 सैन्य अभियान चलाकर 150 से ज्यादा घर लूट लिए और 30 से ज्यादा नागरिकों को मौत के घाट उतार दिया।

दरअसल, पाकिस्तानी सेना द्वारा अगस्त महीने में बलोचिस्तान में किए इन अत्याचारों के बारे में ये जानकारी बलोच कार्यकर्ता साजेदा अख्तर ने दी है। साजेदा ने ये आंकड़े साझा करते हुए ट्विटर पर लिखा, “पाकिस्तान पूरे महीने कश्मीर को लेकर रो रहा है, दूसरी तरफ बलूचिस्तान के नागरिकों का ये महीना इस तरह बीता। ऐसा लगता है, जैसे किसी को बलोच लोगों की फिक्र ही नहीं है।”

साजेदा ने जो आंकड़े जारी किए, उसके मुताबिक, निर्मम और निर्दयी पाकिस्तानी सेना ने 43 सैन्य अभियान कर 150 से ज्यादा घरों को लूट लिया और 31 से ज्यादा लोगों को मार दिया है। इसके अलावा पाक सेना ने 55 नागरिकों को ऐसी जगह गायब कर दिया है, जिनका पता नहीं चल पा रहा है। आपको बता दें कि बलोचिस्तान के निवासियों पर पाकिस्तान आए दिन ज्यादतियां करता रहता है।

इससे परेशान होकर बलोचिस्तान के नागरिकों ने पिछले कुछ सालों से पाकिस्तान से आजादी की मुहिम छेड़ रखी है। हाल ही में बलोचिस्तान के रावलकोट और हजीरा में लोगों ने ‘ये जो दहशतगर्दी है, इसके पीछे वर्दी है’ जैसे नारे लगाए थे।