जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर यूनाइटेड नेशंस (UN) में बुरी तरह से मुंह की खाने के बाद पाकिस्तान बुरी तरह से बौखला गया है। इसी बौखलाहट में वहां अजीबोगरीब फैसले लिए जा रहे हैं, पहले भारत के स्‍वतंत्रता दिवस को उसने ‘काला दिवस’ के रूप में मनाया और अब पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने हास्यापद फैसला लिया है। उन्होंने पंजाब प्रांत के 36 सड़कों और पांच प्रमुख पार्कों के नाम कश्मीर के नाम पर रखने का फैसला किया है।

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री उस्मान बुजदार ने खुद का मजाक बनाने वाली यह घोषणा की है। बुज़दर ने कहा, “कश्‍मीर के लोगों संग सहानुभूति जताने के लिए पंजाब सरकार ने 36 सड़कों (हर जिले की एक सड़क) और पांच बड़े पार्कों का नाम ‘कश्‍मीर रोड और कश्‍मीर पार्क’ रखने का फैसला किया है।”

भारत की नरेंद्र मोदी सरकार ने पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म करने का फैसला लिया। यही नहीं सरकार ने राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने का भी ऐलान कर दिया। जम्मू कश्मीर, विधानसभा वाला केंद्रशासित प्रदेश होगा, जबकि लद्दाख बिना विधानसभा वाला केंद्र शासित प्रदेश होगा। भारत सरकार के इस कदम पर पाकिस्तान की सरकार में घमासान देखने को मिल रहा है।

पाकिस्तान लगातार इसको लेकर अपनी नाराजगी जता रहा है। चीन की मदद से पाकिस्‍तान ने संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद में भी गुहार लगाई थी, मगर वहां उसकी एक न चली। अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर पाकिस्‍तान अलग-थलग पड़ गया है इसलिए ध्‍यान खींचने को पंजाब सरकार जैसे हास्यापद फैसले लिए जा रहे हैं।