भारत ने जब से जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को खत्म किया है, तभी से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। दुनिया के हर मंच पर मुंह खाने के बाद अब वह भारतीय अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा के पीछे पड़ा है। पाकिस्तान की मानवाधिकर मंत्री एम शिरीन मजारी ने यूनिसेफ को चिट्ठी लिखकर कहा है कि यूएन की गुडविल एंबेसेडर फॉर पीस प्रियंका चोपड़ा जम्मू कश्मीर पर भारत सरकार के दावे का समर्थन कर रही है जबकि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए, इसलिए उन्हें पद से हटाने की मांग की है।

मजारी ने यह चिट्ठी सोशल मीडिया पर भी शेयर किया है। चिट्ठी में पहले कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाए जाने, मोदी सरकार की नीतियों और भारतीय सेना पर गंभीर आरोप लगाए। इसके बाद उन्होंने लिखा कि प्रियंका चोपड़ा भारतीय सरकार और सेना द्वारा उठाए गए कदम का समर्थन करती हैं, इसलिए उन्हें हटाया जाना चाहिए।

शिरीन मजारी ने लिखा है, ‘प्रियंका चोपड़ा खुलकर कश्मीर को लेकर भारत सरकार की नीतियों का समर्थन करती हैं और उन्होंने भारत के रक्षा मंत्री द्वारा पाकिस्तान को दी गई परमाणु हमले की धमकी का भी समर्थन किया था। ये सब यूएन गुडविल ऐंबैसडर के शांति और दया-भाव के सिद्धांतों के खिलाफ है।’

इतना ही नहीं मजारी ने अपनी चिट्ठी में यह भी लिखा, ‘… अगर प्रियंका चोपड़ा तो तुरंत नहीं हटाया गया तो शांति के लिए यूएन की गुडविल ऐंबैसडर की सोच ही एक मजाक बन कर रह जाएगी।’

दरअसल, हाल ही में प्रियंका ने एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। इस बीच एक पाकिस्तानी कार्यकर्ता आयशा मलिक प्रियंका के फरवरी 2019 में बालाकोट एयरस्‍ट्राइक के बाद किए गए एक ट्वीट पर भड़क गई थीं जिसमें प्रियंका ने भारतीय सेना की तारीफ की थी। इसी को लेकर शिरीन ने अब प्रियंका के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

प्रियंका चोपड़ा ने महिला को करारा जवाब दिया था। ‘मेरे पाकिस्‍तान के कई सारे दोस्‍त हैं और मैं भारत से हूं। युद्ध ऐसी चीज नहीं है जिसके मैं पक्ष में हूं लेकिन मैं देशभक्‍त हूं। मैं माफी मांगती हूं, अगर मैंने उन लोगों की भावनाएं आहत की हों जो मुझे पसंद करते हैं, लेकिन मुझे लगता है कि हम सभी में एक मिडिल ग्राउंड होता है जिस पर हमें चलना होता है, जैसा कि शायद आप भी कर रही हैं। जिस तरह से आप अभी मेरे पास आई हैं, चिल्‍लाइए नहीं। हम सभी यहां प्‍यार के लिए हैं।’

बता दें, आर्टिकल 370 हटने के बाद पाकिस्तानी सरकार के कुछ नहीं कर पाने की विवशता से पाकिस्तानी नागरिक बेहद निराश है और इस तरह से खुन्नस निकाल रहे है। सच्चाई यह है कि दुनिया का कोई भी देश इनके साथ नही खड़ा है, यहाँ तक कि मुस्लिम देश भी भारत का साथ दे रहे है जिसकी वजह से पाकिस्तानी बेहद परेशान है। भारत सरकार ने कश्मीर पर बोलने वाले पाकिस्तानियों के मुंह सोशल मीडिया पर भी बन्द करा रखा है। वहाँ भी यह बुरी तरह डरे है कि कश्मीर पर कुछ बोला तो भारत सरकार एकाउंट बन्द करवा देगी।