इमरान खान के मंत्री का कबूलनामा, हमने इस आतंकी संगठन पर खर्च किए करोड़ों रुपये

- Advertisement -

Imran Minister Exposed Pakistan : पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री ब्रिगेडियर (आर) एजाज अहमद शाह ने राष्ट्रीय टेलीविजन पर यह खुलासा करके सनसनी मचा दी कि पाकिस्तान ने आतंकी संगठन जमात-उद-दावा पर करोड़ों रुपए खर्च किए हैं। शाह ने कहा कि इमरान सरकार ने इस आतंकी संगठन के मेक ओवर के लिए करोड़ों रुपए खर्च किए हैं।

एजाज अहमद शाह ने ये बाते पाकिस्तानी पत्रकार नदीम मलिक से बात करते हुए समाचार चैनल हम न्यूज़ पर प्रसारित एक टॉक शो के दौरान कही। टॉक शो के दौरान मंत्री ने ये भी कबुल किया कि इस्लामाबाद कश्मीर मुद्दे पर अपने रुख को लेकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय से समर्थन पाने में विफल रहा है। साथ ही मंत्री ने पाकिस्तानी सत्तारूढ़ पक्ष और इमरान खान पर आरोप लगाया कि उन्होंने मिलकर देश की छवि खराब की है।

- Advertisement -

दुनिया मानती है पाकिस्तान को आतंकी देश

उन्होंने बुधवार को पाकिस्तानी न्यूज चैनल पर बात करते हुए कहा, ‘लोग हम पर भरोसा नहीं करते, अंतरराष्ट्रीय समुदाय हम पर विश्वास नहीं करते हैं। हम कहते हैं कि वे (भारत) कर्फ्यू लगा रहे हैं और जम्मू-कश्मीर के लोगों को दवाएं नहीं दे रहे हैं। लोग हम पर विश्वास नहीं करते हैं, बल्कि वे उन्हें मानते हैं। पाकिस्तान की सत्तारूढ़ पार्टी ने देश को बर्बाद कर दिया है। उसने इस देश के नाम को खराब किया है। पूरी दुनिया में लोगों को ये लगने लगा है कि हम एक गंभीर राष्ट्र नहीं हैं।’

इमरान खान भी कबूल चुके है सच

इससे पहले, जुलाई में संयुक्त राज्य अमेरिका की अपनी यात्रा के दौरान पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने कबुल किया था कि उनके देश में अभी भी 30,000 से 40,000 आतंकवादी मौजूद हैं। जिन्हें अफगानिस्तान और कश्मीर के हिस्सों में ट्रेनिंग दी गई।

खान ने यह भी कहा था कि उनकी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ सरकार के सत्ता में आने से पहले, सरकारें अपनी मिट्टी पर काम करने वाले आतंकवादी समूहों को निष्क्रिय करने की राजनीतिक इच्छा नहीं थी। एक अलग कार्यक्रम में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि उनके यहां 40 अलग-अलग आतंकवादी समूह हैं जो उनकी ही सीमा के भीतर काम कर रहे हैं।

- Advertisement -
Awantika Singhhttp://epostmortem.org
Social media enthusiast , blogger, avid reader, nationalist , Right wing. Loves to write on topics of social and national interest.
error: Content is protected !!