पश्चिम बंगाल: मालदा में मोहर्रम जुलूस में हुई जमकर फायरिंग, 8 साल के बच्चे को लगी गोली

- Advertisement -

पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के मोहर्रम जुलूस में जमकर फायरिंग हुई और हथियार लहराए गए। इस फायरिंग में एक बेहद दर्दनाक हादसा हुआ। एक 8 साल के बच्चे जिसका नाम अब्दुल रज्जाक था उसे गोली लग गयी।

यह घटना मालदा के रतुआ पुलिस थाने के हाजीपुर गांव की है। बच्चे के परिजनों के मुताबिक, 10 सितम्बर की शाम सारा परिवार अपने घर के सामने से गुजर रहे मोहर्रम जुलूस को देख रहा था। जुलूस में जमकर फायरिंग हो रही थी और हथियार लहराए जा रहे थे। अचानक अब्दुल जमीन पर गिर पड़ा। जब उसकी मां ने उसे उठाया तो देखा कि एक गोली उसके पैर में लगी है और दूसरी उसकी छाती के बगल से गुजर गई।

- Advertisement -

परिजन उसे तुरन्त नजदीक के प्राथमिक चिकित्सालय लेकर गए, जहाँ डॉक्टर्स ने बुलेट निकाल दी और बच्चा फिलहाल खतरे के बाहर है। रतुआ पुलिस थाने से एक टीम ने हाजीपुर गांव में घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की जांच की, हालांकि किसी को गिरफ्तार नही किया गया है।

वहीं, भाजपा के जॉइंट जनरल सेक्रेट्री सुरेंद्र जैन ने मालदा के मुहर्रम जुलूस का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा कि मुस्लिम समाज की हर हिंसा, त्योहार में शांति संदेश मिलता है चाहे वो दहशत पैदा करने के लिए हो। उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से पूछा है कि शांतिपूर्ण ढंग से की गई रामनवमी, हनुमान जयंती, दुर्गापूजा से वह क्यों आतंकित होती हैं?

विश्व हिन्दू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि इस तरह की ख़बरें ‘सेक्युलर मीडिया’ द्वारा नहीं दिखाई जाती हैं और न ही कोई ‘सेक्युलर नेता’ इस तरह की वीडियो पर आपत्ति जताता है। उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की चुप्पी पर भी सवाल खड़े किए। बता दें मोहर्रम जुलूस के दौरान बिहार में एक मुस्लिम युवक ने खुद की ही गर्दन तलवार से काट ली।

- Advertisement -
error: Content is protected !!