दिल्ली में हुए कांग्रेस बूथ कार्यक्रम में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की जुबान फिसल गई जिसकी वजह से वह सोशल मीडिया पर ट्रोल होने लगे है। इस कार्यक्रम में राहुल पुलवामा हमले और मसूद अजहर के मुद्दे पर भाजपा पर प्रहार कर रहे थे। इसी दौरान उनके मुंह से निकला, मसूद अजहर जी…। भाजपा ने भी राहुल के बयान पर ट्वीट कर तंज कसा है।

भाजपा ने लिखा- देश के 44 वीर जवानों की शहादत के लिए जिम्मेदार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना के लिए राहुल गांधी के मन में इतना सम्मान!

इस कार्यक्रम में राहुल ने पुलवामा हमले को लेकर भाजपा को निशाने पर लिया। राहुल ने कहा- -पुलवामा हमला जैश ए मोहम्मद ने किया। इनकी पिछली सरकार ने मसूद अजहर को जेल से छोड़ा। अजीत डोभाल खुद मसूद अजहर को लेकर कंधार गए थे। कांग्रेस ने दो प्रधानमंत्री खोए हैं। हम किसी के सामने नहीं झुकते हैं। हालांकि, राहुल गांधी पहले नेता नहीं है जिनकी जुबान फिसली है। इससे पहले कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह आतंकी हाफिज सईद को ‘साहब’  और ओसामा बिन लादेन को ‘जी’ बोल चुके हैं।

करीब आठ साले पहले दिग्विजय सिंह ने अमेरिका को दहलाने वाले आतंकी ओसामा बिल लादेन को ‘जी’ बोला था। उस वक्त दिग्विजय सिंह ने कहा था कि पाकिस्तान के मिलिट्री अकादमी से 100 गज दूर पर ओसामा जी कई वर्षों से रह रहे थे, पाकिस्तानी आर्मी और सरकार क्या कर रही थी इस पर प्रश्नचिन्ह लग रहे हैं। कहीं ऐसा तो नहीं है कि नेताओं की आदत में ही ‘जी’ और हांजी शुमार हो गया हो!

बहरहाल अपने इस बयान को लेकर राहुल गांधी सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे है। आज तक कि वरिष्ठ पत्रकार ने बिना नाम लिए तंज कसते हुए कहा कि सम्मानित शब्द सुनने के लिए आतंकी बनना होगा।

भईया जी नाम से ट्विटर हैंडल चलाने वाले एक यूजर ने लिखा

विकास भदौरिया ने लिखा

स्मोकिंग स्किल नाम के यूजर ने वीडियो शेयर करते लिखा

जबकि एक दूसरे यूजर ने लिखा कि देश के प्रधानमंत्री का अपमान आतंकी का सम्मान