मैनपुरी के भोगांव के जवाहर नवोदय विद्यालय (Jawahar Navoday Vidyalay) के हॉस्टल में 11वीं की छात्रा अनुष्का पांडेय की मौत के मामले में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद नया मोड़ आ गया है। पुलिस ने प्रधानाचार्य (प्रिंसिपल) सुषमा सागर पर हत्या का केस (FIR) दर्ज किया है। मामले में एक छात्र अजय के खिलाफ भी नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई है। परिजनों की तहरीर पर दोनों के खिलाफ हत्या और रेप की एफआईआर दर्ज हुई है।

बता दें कि सोमवार (16 सितम्बर 2019) सुबह हॉस्टल में अनुष्का का फंदे से लटका शव मिला था। उसके पास से पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला था। हालांकि अब इस मामले में ऐसी कई बातें सामने आ रही है जो बेहद चौकाने वाली हैं। छात्रा के परिजनों का कहना है कि उनकी बेटी के शरीर पर चोट के निशान हैं और अनुष्का की मौत पिटाई से हुई है।

दूसरी तरफ पुलिस प्रथम दृष्टया इसे आत्महत्या का मामला मान रही है। पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला है। पुलिस की मानें तो अनुष्का तनावग्रस्त थी, विद्यालय से पता चला कि तीन साल पहले एक छात्रा ने उस पर नमकीन चोरी करने का आरोप लगाया था। जिसके बाद वॉर्डन के कहने पर करीब 48 छात्राओं ने उसे एक-एक थप्पड़ मारकर सामूहिक सजा दी थी। इसके बाद से अनुष्का को आए दिन परेशान किया जाता था। इसकी शिकायत भी विद्यालय प्रशासन से की गई थी। छात्रा ने अपने सुसाइड नोट में भी इस बात का जिक्र किया है।

वही हिंदुस्तान न्यूज़ पेपर ने इस मामले में यह सवाल उठाए है

1. कक्षा 8 की घटना को लेकर अनुष्का को प्रताड़ित और अपमानित किया जा रहा था, परिजनों द्वारा इसकी शिकायत के बाद भी विद्यालय ने कार्रवाई क्यों नही की?

2. कक्षा 8 में नमकीन चोरी का आरोप लगाकर उसे 48 साथी छात्राओं से पिटवाया गया, ऐसा विद्यालय प्रशासन ने क्यों करवाया? इस आरोप में कितनी सच्चाई है यह तो जांच का विषय है लेकिन नमकीन चोरी जैसी बात के लिए किसी की सामूहिक पिटाई करवाना आपराधिक कृत्य है।

3. हिंदुस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक सुसाइड नोट से कई पन्ने गायब है, आखिर वह पन्ने कहाँ गए? जानबूझकर तो गायब नही किये गए।

4. अनुष्का के बदलते व्यवहार पर स्कूल स्टाफ ने क्यों ध्यान नही दिया?

5. अनुष्का के शरीर पर चोटों के निशान पाए गए, उसे चोट कैसे लगी?

6. विद्यालय के प्रवेश गेट के बगल के कमरे में शव लटका मिला, उस कमरे में अनुष्का कैसे पहुंची?

7. अनुष्का के हाल में 23 अन्य लडकिया रहती है, अनुष्का रात में बाहर निकली या सुबह उन्हें जानकारी क्यों नही हुई?

8. अनुष्का ने आत्महत्या की या उसकी हत्या हुई इस पर विद्यालय प्रशासन की खामोशी क्यों है?

9. विद्यालय में  सुरक्षा के प्रबंध होने चाहिए, फिर भी विद्यालय में आंतरिक सुरक्षा का प्रबंध क्यों नही है?

हिंदुस्तान के स्थानीय संस्करण में छपी रिपोर्ट

इस घटना के बाद विद्यालय का स्टाफ कुछ भी बोलने को तैयार नही है। हालांकि मृतका के साथी छात्राओं के मुताबिक अनुष्का कई दिनों से तनाव में थी। स्कूल के कुछ लड़के लड़कियों के साथ अभद्रता करते थे। आपत्तिजनक फब्तियां कसे जाने की घटनाएं बढ़ गयी थी। इसकी शिकायत स्कूल प्रशासन से भी की गई थी, लेकिन हर बार मामला रफा दफा कर दिया जाता था। छात्राओं में आक्रोश है कि स्कूल प्रशासन समय रहते कार्रवाई करता तो अनुष्का की जान बच सकती थी।

इस घटना के बाद मृतक छात्रा की माँ का रो-रोकर बुरा हाल हैं। मृतक छात्र के परिजनों ने सीबीआई जांच की मांग की है ताकि आरोपियों को सजा मिल सके। वहीं पुलिस ने प्रधानाचार्य सुषमा सागर, अज्ञात वार्डन, स्कूल के छात्र अजय और उसके अन्य साथियों के खिलाफ पुलिस ने हत्या, दुष्कर्म, और पॉस्को ऐक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। घटना के बाद प्रधानाचार्य फरार हो गयी है। पुलिस ने पूछताछ के लिए उनके पति समेत चार लोगों को हिरासत में लिया है।

 

सोशल मीडिया पर भी उठ रही है न्याय की मांग

अनुष्का की मौत पर न्याय के लिए कैंडल मार्च भी निकाला गया। जिसमें अनुष्का की माँ साधना पांडेय ने मीडिया से कहा कि उनकी बेटी को टॉर्चर किया जा रहा था। इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी न्याय की मांग तेज हुई है, ट्विटर पर यूजर्स #JusticeForAnushka नाम से ट्रेंड भी चला रहे है।