भोपाल। मध्य प्रदेश के इंदौर विकास प्राधिकरण (Indore Development Authority) के एक सब इंजीनियर के कई ठिकानों पर लोकायुक्त की टीम ने छापेमारी की। गजानन पाटीदार के घर सहित नौ स्थानों पर शनिवार को लोकायुक्त की टीम ने छापा मारा। इस दौरान पाटीदार के घर से बड़ी मात्रा में नकदी, सोना, चांदी, कार और संपत्ति के दस्तावेज बरामद किए गए हैं।

लोकायुक्त की टीम के इस छापे में मिले नकदी, गहनों और दस्तावेजों को सीज कर दिया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, छापेमारी अब भी जारी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गजानन पाटीदार और उनके रिश्तेदार नौकरी के अलावा जमीन खरीद-फरोख्त और भवन निर्माण का भी काम भी करते थे। इंदौर में इंजीनियर के 8 ठिकानों पर छापेमारी अभी भी जारी है। इसके अलावा खरगोन के शेगांव में भी उनके पैतृक घर भी एक टीम जांच के लिए पहुंची हुई है।

छापेमारी के दौरान टीम को भारी मात्रा में नकदी, गहने और कागजात मिले हैं। इस सभी चीजों को जब्त कर दिया गया है। नकदी और सोने-चांदी की कीमत के बारे में अभी पुष्ट जानकारी सामने नहीं आई है। वहीं, इंजीनियर के भाई की पत्नी वंदना और बहन सुनीता पाटीदार के मकान की बात भी सामने आई है। स्कीम नंबर 94 में भी एक मकान की जानकारी हाथ लगी है।

बता दें कि पिछले महीने, मध्य प्रदेश में आयकर विभाग की छापे की कार्रवाई में 281 करोड़ रुपए के बेहिसाबी कैश रैकेट का पता चला था। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) ने बताया कि राजनीति, व्यापार और सरकारी सेवाओं से जुड़े लोगों के यहां से छापे के दौरान यह कैश रैकेट सामने आया था।