सोशल मीडिया पर यदि किसी क्षेत्र से जुड़ा कोई व्यक्ति तथाकथित बुध्दिजीवियों या उनके समर्थकों के अनुसार अपनी बात ना रखे, तो वे उसका जीना हराम कर देते हैं और सामने मिल जाए, तो ना जाने क्या कर देंगे। आजकल यही हो रहा है एबीपी न्यूज की एंकर रूबिका लियाकत के साथ। रूबिका लियाकत देश की जानी-मानी पत्रकार हैं और देशहित एवं अन्य सामाजिक मुद्दों पर अपनी बेबाक राय रखने के लिए जानी जाती हैं। इसलिए वो हमेशा से ही एक वर्ग विशेष के निशाने पर ज्यादा रहती हैं। इस वक्त उन्हें सोशल मीडिया पर जान से मारने की धमकी भी दी जा रही है।

23 मई को उन्होंने रोजा इफ्तारी करते हुए अपनी फोटो ट्विटर पर पोस्ट की थी। फोटो शेयर करते हुए उन्होंने लिखा था, “आज की इफ्तारी, लोकतंत्र की जीत वाली।”

इस पर इस्लाम के एक ठेकेदार इरफान अंजुम ने अपनी घटिया सोच दिखाते हुए कहा, “टांग पे टांग चढ़ा के, लिपिस्टिक लगा के, इतना मेकअप करके कौन इफ्तार करता है भाई?” इस पर रूबिका ने इस कट्टरपंथी को बेहद ही तीखा और सटीक जवाब दिया। उन्होंने लिखा, “टाँग पर टाँग चढ़ा के लिपस्टिक लगा के, इतना सारा मेकअप करके इफ़्तार वो करता है जो सारा दिन अपने पैरों पर खड़ा रह कर मेहनत से स्टूडियों में काम करता है।”

आपको बता दें कि इन इस्लामिक कट्टरपंथियों या अन्य लिबरल्स में एक बात यह है कि अगर वे किसी मुद्दे पर घिर जाते हैं या हारने लगते हैं, तो अपनी दो-दो कौड़ी की पूरी जमात को बुला लाते हैं। यही किया इन कट्टरपंथियों ने भी। अब इन बहुरुपियों ने रूबिका लियाकत के खिलाफ फिर से अपनी गंदी सोच दिखाने के लिए उनकी एक फोटो ढूंढ ली, जिसमे वो आजतक के एंकर निशांत चतुर्वेदी के साथ दिखाई दे रही हैं। आपको बता दें कि यह फोटो 26 अगस्त 2018 को रक्षाबंधन के दिन की है। लेकिन महिला अधिकारों और सम्मान की आड़ में अपनी दूषित मानसिकता प्रदर्शित करने वाले सच्चाई को जानबूझकर लात मार देते हैं।

इत्ज़ अजीज मेवाती नाम के एक कट्टरपंथी ने निशांत के साथ उनकी इस तस्वीर को शेयर करते हुए बेहद ही घटिया और भद्दी बातें कहीं। उसने कहा, “यह इस्लाम पर प्रवचन करने वाली न्यूज एंकर रूबिका लियाकत है अब यह हमे इस्लाम सिखाएगी टीवी पर बैठ कर।” अगर हम इसकी प्रोफाइल चेक करें, तो यह घटिया मानसिकता वाला इस्लाम का ठेकेदार लगातार दूसरी बार अपने बलबूते विपक्ष में भी ना बैठ पाने वाली कांग्रेस पार्टी का बड़ा समर्थक लगता है।

मेवाती ने ऐसी मानसिकता से वो ट्वीट किया, जिससे किसी का भी गुस्सा होना स्वाभाविक है। रूबिका को भी गुस्सा आया और उन्होंने इस कांग्रेस समर्थक को जवाब देते हुए लिखा, “सही तो ये होगा कि तुम्हारी माँ-बहन के सामने आकर तुम्हें इस्लाम का सही अर्थ समझाऊँ। ये हिंदुस्तान है तालीबान नहीं मेवाती। नफ़रत में इतने अंधे हो गए हैं आपके समर्थक @INCIndia कि मेरे भाई के साथ मेरी तस्वीर बेहूदगी के साथ शेयर कर रहे हैं।”

कहते हैं ना कि अगर बहन किसी छोटी मुसीबत में हौ तो भाई उसकी मदद तुरंत करता है। ऐसा ही किया रुबिका के राखी भाई निशांत ने। उन्होंने भी इस मेवाती को जबरदस्त जवाब दिया। उन्होंने कहा कि रूबिका उनकी बहन हैं।

राजनीतिक विशेषज्ञ व सी वोटर के संस्थापक यशवंत देशमुख और लेखक एवं शायर आलोक श्रीवास्तव भी रूबिका के समर्थन में खड़े हो गए।

इसके अलावा उनके साथ हजारों भाईयों की फौज खड़ी हो गई, जिससे डरकर तालिबानी मेवाती अपना ट्वीट डिलीट कर भाग खड़ा हुआ। लेकिन जब रूबिका ने मेवाती को ‘तालिबानी’ कहा तो उसके अन्य भाई रूबिका को जान से मारने की धमकी देने लगे। इमरान खान नाम के यूजर ने कहा कि रुबिका ने मेवाती को तालिबानी कहकर अपने जान की बोली लगा दी है।

लेकिन हद तो हो गई, जब एक लड़की ने उनके साथ बलात्कार होने की इच्छा तक जता दी। निधि तलवार नाम की एक लड़की ने लिखा, “अगर रूबिका के साथ गैंगरेप भी हो जाए, तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ेगा।” मतलब आश्चर्य होता है ऐसी ट्वीट्स देखकर। एक लड़की, दूसरी लड़की या महिला से सिर्फ इसलिए क्योंकि वो उनके अनुसार नहीं चलती हैं, इस वजह से इस तरह की बातें कैसे कर सकती है? मतलब इससे ज्यादा शर्मनाक और क्या होगा?

उधर मेवाती तो अपना ट्वीट डिलीट कर भाग गया, लेकिन उस फोटो को बाकी कट्टरपंथी सोशल मीडिया पर बेशर्मी से बेहूदे कैप्शन के साथ शेयर कर रहे हैं।

ये है इन कट्टरपंथियों की हकीकत, जो अक्सर रूबिका लियाकत के ट्वीट के रिप्लाई में दिखाई दे पड़ती है। वो ट्वीट चाहे उनके डिबेट शो या प्राइम टाइम को लेकर ही क्यों ना हो, ये कट्टरपंथी हमेशा इस महिला पर अपनी घटिया और बेहूदा सोच प्रदर्शित करते रहते हैं। खुद को इस्लाम का ठेकेदार कहने वाले ये सभी उस पार्टी के समर्थक हैं, जो दिन रात महिला अधिकार एवं सम्मान की रट लगाए रहती है। इतना ही नहीं, अगर आप इन कट्टरपंथियों से भी महिला सम्मान की बात करेंगे तो ये भी लंबे चौड़े भाषण दे डालेंगे, बशर्ते वो महिला इनके अनुसार चलने वाली हो, अन्यथा ये उस महिला पर वही सोच दिखाते हैं, जो रूबिका लियाकत पर दिखा रहे हैं।

आपको बता दें कि रूबिका लियाकत एक सच्चे धर्मनिरपेक्ष नागरिक की भांति श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, दशहरा, होली, रक्षाबंधन आदि अनेक हिंदू त्योहारों की सिर्फ बधाई ही नहीं देतीं, बल्कि वो उत्सव भी मनाती भी हैं। इसके अलावा वो अपने डिबेट शो में कई बार इस्लामिक स्कालर्स को उनकी जगह भी दिखा चुकी हैं। राष्ट्रहित के इतर एक यह भी मामला है, जिससे इन कट्टरपंथियों की आंखों में वो 24 घंटे कांटों की तरह चुभती रहती हैं।

2 COMMENTS