राजस्थान के जयपुर में गलता गेट थाना इलाके में कांवड़ यात्रा के दौरान रविवार को हुई कहासुनी ने सोमवार को उग्र रूप ले लिया। पत्थरबाजी, झगड़ा, आगजनी से दिल्ली रोड जाम हो गया। देर रात मुस्लिम समुदाय के लोग बड़ी संख्या में जमा होकर दिल्ली रोड पर आ गए। दिल्ली की ओर जा रही एक निजी बस पर उन्होंने पथराव ( Stone Pelting ) कर दिया।

वहीं रोड पर एकत्र होकर दोनों तरफ का यातायात रोक दिया। कुछ ही देर में उग्र भीड़ पत्थर, सरिए, डंडे लिए हुए पुलिया नंबर 2 के आगे मंडी खटीकान की ओर आ गई और वहां पर घरों पर पथराव किया। दूसरे समुदाय से भी लोग घरों से बाहर निकले और आमने-सामने हो गए। देर रात तक मौके पर पुलिस तैनात है, लेकिन तनाव बरकरार रहा। उपद्रवियों को खदेडऩे के लिए पुलिस को भारी बल प्रयोग करना पड़ा है और आंसू गैस के गोले भी दागे। फायरिंग की सूचना भी है, हालांकि पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है। विवाद में घायल नौ जने एसएमएस हॉस्पिटल में भर्ती हैं।

सुरक्षा के मध्यनजर रामगंज, गलतागेट, सुभाष चौक, माणक चौक, कोतवाली, शास्त्री नगर, भट्टाबस्ती, संजय सर्कल सहित 10 थाना क्षेत्रों में मोबाइल इंटरनेट बंद कर दिया है। तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए आरएसी सहित विशेष टीमों को मौके पर लगाया गया। आंसू गैस के गोले छोडकऱ भीड़ को खदेड़ा गया। हथियारों से लैस पुलिस की बख्तरबंद गाडिय़ां इलाके में चक्कर लगाती दिखी।

बता दें यह सारा विवाद चार दरवाजा पर रविवार को कावड़ यात्रा के दौरान शुरू हुआ था। उसके बाद सोमवार रात को यह विवाद फिर से कावड़ यात्रा पर ही हुआ है। थोड़ी सी बात को लेकर बसों में तोडफ़ोड़ की गई और वाहनों को आग के हवाले किया गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने काबू करने का प्रयास किया है। मौके पर अतिरिक्त कमिश्नर समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे और स्थिति पर नियंत्रण पाने की कोशिश जारी रही।

सूत्रों से पता चला है कि उपद्रवियों से ऑटो रिक्शा, बाइक व एंबुलेंस में आग लगाई है, हालांकि इसकी पुलिस पुष्टि नहीं कर रही है। दो दमकलें भी मौके पर आते-जाते देखी गई। तनाव के चलते इलाके को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया और लोगों को घरों में भेज दिया।