पिछले कुछ समय से झारखंड के सरायकेला खरसावां के तबरेज़ अंसारी का नाम मीडिया में छाया हुआ है। बेहद दुखद घटना थी कि मोटरसाइकल चोरी के आरोप में तबरेज़ को भीड़ ने घंटों तक पीटा। 24 साल का तबरेज़ घटना के चार दिन बाद 22 जून को उसकी मृत्यु हो गई। अब इसे लेकर एक और बड़ी खबर आ रही है की तबरेज के पिता मस्कूर अंसारी भी करीब 15 वर्ष पहले इसी तरह मारे गए थे। स्थानीय लोगों के मुताबिक जमशेदपुर के बागबेड़ा इलाके में कथित तौर पर चोरी करते हुए मस्कूर को भीड़ ने पकड़ लिया था।

पुलिस अब इस घटना से जुड़ी फाइल खोजने में जुटी है। मामले में बागबेड़ा पुलिस स्टेशन में एक केस भी दर्ज किया गया था। कांग्रेस जिला यूनिट के महासचिव मोहम्मद मोहसिन खान ने एक समाचार पत्र को बताया, ‘पहचान होने के बाद वह मस्कूर के शव को उसके गांव वापस लाने के लिए जमशेदपुर गए थे। आखिरकार वह यहीं से था।’

मोहसिन खान के दावे की पुष्टि तबेरज के घर से करीब 100 मीटर की दूरी पर रहने वाली एक बुजुर्ग महिला ने भी की उन्होंने बताया कि, ‘तबरेज का पिता भी भीड़ द्वारा पकड़ा गया था। उसकी खूब पिटाई की गई और बाद में गला रेत दिया गया। जब उसका शव लाया गया तब हम यहीं मौजूद थे।’

गांव के ही तकरीबन दो सत्तर वर्षीय बुजुर्गो ने जनसत्ता न्यूज़ पेपर को नाम ना छापने के शर्त पर (क्योंकि नाम सामने आने पर जांच एजेंसी उनसे भी पूछताछ करेंगी) बताया कि मोहसिन खान ने जो कहा है वो सही है। उन्होंने कहा कि मस्कूर को वास्तव में भीड़ द्वारा मारा गया था।

स्थानीय नेता और सामाजिक कार्यकर्ता सुबोध कुमार झा के जहन में नवंबर 2004 की कुख्यात लिंचिंग अभी भी स्पष्ट रूप से ताजा है। उन्होंने बताया कि ‘एक दिन… बागबेड़ा में रामनगर इलाके के लोगों ने उस शख्स को पकड़ लिया और भीड़ ने उसे पीट-पीटकर मार डाला।’ बहरहाल पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है और इस घटना से जुड़ी फाइल खोजने में जुटी है।

Source: Via Twitter

आपको बता दें, पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक तबरेज अपने दो साथियों, नुमैर अली और शेख इरफान के साथ कमल महतो के घर में चोरी के इरादे से घुसा था और पकड़े जाने पर दो साथी भाग गया, जबकि तबरेज पकड़ा गया जिसकी भीड़ ने काफी पिटाई की थी। मौके पर पुलिस ने पहुंचकर चोरी के सामान को जब्त किया और उसे बचाया तथा अस्पताल में उपचार कराया। घटना के कुछ दिन बाद उसकी तबियत बिगड़ गई, जिससे फिर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मृत्यु हो गई।

1 COMMENT