INX Media Case में आरोपी पूर्व केंद्रीय गृह और वित्‍त मंत्री पी चिदंबरम की न्‍यायिक हिरासत 3 अक्‍टूबर तक बढ़ा दी गई है। इससे पहले उन्‍हें दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया गया था। चिदंबरम की 14 दिनों की न्यायिक हिरासत आज खत्म हो रही थी। सीबीआई ने विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहर के सामने चिदंबरम की न्यायिक रिमांड को बढ़ाने की मांग की।

चिदंबरम की ओर से पेश वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने अपनी न्यायिक हिरासत बढ़ाने के लिए जांच एजेंसी की याचिका का विरोध किया। पी चिदंबरम की तरफ़ से पैरवी करने वाले दूसरे वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि चिदंबरम पहले से ही 14 दिन की पुलिस हिरासत और 14 दिन की न्यायिक हिरासत में रह चुके हैं। उन्होंने चिदंबरम की न्यायिक हिरासत बढ़ाए जाने का विरोध किया।

हालांकि कोर्ट द्वारा जमानत देने से इनकार करने के बाद सिब्बल ने चिदंबरम की ओर से अर्जी दी और तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत के दौरान नियमित मेडिकल चेकअप और पर्याप्त पूरक आहार की मांग की। उन्होंने कहा कि 73 वर्षीय कांग्रेस नेता विभिन्न बीमारियों से पीड़ित हैं और हिरासत के दौरान उनका वजन कम हो गया है, जिसके लिए उन्हें 5 सितंबर को भेजा गया था।

आईएनएक्स मीडिया केस में दिल्ली हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत अर्जी खारिज होने पर सीबीआई ने चिदंबरम को 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था। इसके बाद जांच एजेंसी ने भ्रष्टाचार के मामले में उन्हें हिरासत में लेकर 14 दिन तक पूछताछ की थी। इसके बाद विशेष अदालत ने उन्हें 5 सितंबर को 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया था। गुरुवार को इसकी सीमा खत्म होने पर उन्हें कोर्ट में पेश किया गया।