जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के हटने बाद भारतीय सेना ने राज्य में एक भी आतंकी हमला ना हो, इसके लिए अभियान चला रखी है। सेना ने पहली बार घाटी में सक्रिय 273 आतंकियों की सूची जारी की है। इनमे से मध्य कश्मीर में 19 आतंकी बड़े हमले करने की फिराक में हैं।

‘आजतक’ के मुताबिक, सेना ने 273 सक्रिय आतंकियों की जो सूची जारी की है, उसमे से दक्षिण कश्मीर में 158, उत्तरी कश्मीर में 96 और मध्य कश्मीर में 19 आतंकी सक्रिय हैं। सेना के सूत्रों के मुताबिक, मध्य कश्मीर और उत्तरी कश्मीर में आतंकी बड़ा हमला करने की फिराक में हैं। जारी किए गए आतंकियों की सूची में 166 विदेशी और 107 स्थानीय आतंकियों के नाम शामिल हैं, जिनमे लश्कर-ए-तैयबा के 112, हिज्बुल मुजाहिदीन के 100, जैश-ए-मोहम्मद के 58 और अल बद्र के 3 आतंकी घाटी में सक्रिय हैं।

सूत्रों ने बताया कि 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 को खत्म करने के बाद से पाकिस्तान की तरफ से बड़े स्तर पर हथियारों के साथ आतंकियों के घुसपैठ की कोशिश हुई है, जिनमे से कई कोशिश कामयाब हुई है। खबरों के मुताबिक, आतंकियों का गुट श्रीनगर और दक्षिण कश्मीर में है। खुफिया सूत्रों की मानें तो 50 आतंकी श्रीनगर में हैं, जो अपने आका के अगले आदेश का इंतजार कर रहे हैं। इसके अलावा जम्मू के अंतरराष्ट्रीय सीमा से भी आतंकी घुसपैठ की फिराक में हैं।

सेना और खुफिया एजेंसियों ने बताया कि पाकिस्तानी सेना आतंकियों को ‘फॉक्स होल एंबुश’ की ट्रेनिंग दे रही है। इस ट्रेनिंग में आतंकियों को ‘फॉक्स होल’ जैसी सुरंग बनाकर छिपा दिया जाता है, उसके बाद घुसपैठ के लिए रेडियो वायरलेस से निर्देश दिए जाते हैं। खुफिया एजेंसियों ने ऐसे 10 सुरंगों को चिन्हित किया है, जहां से आतंकी घुसपैठ कर रहे हैं।