राजस्थान के अलवर जिले में एक गोदाम से बुधवार को कुल 220 गायों के शव जब्त किए गए। इस बात की जानकारी सब इन्स्पेक्टर धरा सिंह ने मीडिया को देते हुए बताया कि ये शव गोविंदगढ़ के एक गोदाम के अंदर दफन पाए गए। यह गोदाम शकील नाम के शख्स का है जिसे मंगलवार को गिरफ्तार किया गया है। गायों के शवों के अलावा गोदाम से भैंसों और बकरियों के शव भी बरामद किए गए।

इन्स्पेक्टर ने कहा कि माना जा रहा है कि यहां से हरियाणा, राजस्थान और आसपास के राज्यों में गोमांस की आपूर्ति की जाती थी। उन्होंने जारी जांच के बारे में कहा कि शकील से पूछताछ करने के बाद बुधवार तड़के छापेमारी की गई। अधिकारी ने बताया, ‘सोमवार को तीन महिलाओं की गिरफ्तारी के बाद मंगलवार को यह गिरफ्तारी हुई।’ उन्होंने कहा कि कई घरों में तलाशी ली गई और वहां से 40 किलोग्राम गोमांस बरामद किया गया था।
पुलिस अधिकारी के मुताबिक, ‘पूछताछ के दौरान अकबरी नाम की एक महिला ने स्वीकार किया कि उसका बेटा शकील और उसका दोस्त सत्तार उसके घर गोमांस लेकर आया था।’ धरा सिंह ने कहा कि शकील को गिरफ्तार कर लिया गया लेकिन सत्तार अभी फरार है। पुलिस द्वारा बुधवार को गोदाम की छापेमारी के दौरान पशु चिकित्सक और बड़ी संख्या में हिंदू कार्यकर्ता मौजूद थे।

गौरतलब है कि पुलिस ने अलवर स्थित आंबेडकरनगर के अंतर्गत आनेवाले गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र में मंगलवार को चार महिलाओं एवं एक पुरुष को बीफ बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था, और इनके पास से 40 किलोग्राम बीफ भी बरामद किया गया था। इस दौरान पुलिस अधिकारी की पूछताछ में आरोपी शख्स ने गोहत्या की बात स्वीकार भी की थी।

बता दें कि पिछले दिनों अलवर जिले के रामगढ़ इलाके के गांव लल्लावां में अकबर खान उर्फ रकबर को गौतस्कर बताकर लोगों ने उनकी पिटाई शुरू कर दी थी। आरोप है कि लोगों की पिटाई की वजह से रकबर की मौत हो गई थी।