हिमांचल प्रदेश के सुंदरनगर जिले में शुक्रवार को धर्मांतरण को लेकर जमकर हंगामा हुआ। ईसाई मिशनरी की प्रार्थना सभा कर रहे लोगों का विरोध बजरंग दल व विश्व हिंदू परिषद के लोगों ने किया। बजरंग दल व विहिप के पदाधिकारियों का आरोप है कि प्रार्थना सभा के बहाने लोगों का धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है। इसी को लेकर हिंदू संगठनों ने हंगामा कर दिया।

प्रांत समन्वय प्रमुख विश्व हिंदू परिषद शमशेर सिंह ठाकुर ने दावा किया कि ईसाई मिशनरी की प्रार्थना सभा की आड़ में धर्म परिवर्तन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गरीब, जरूरतमंद, बीमार और बेसहारों को सम्मेलन में बुलाकर ईसाई धर्म अपनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इसकी भनक हिंदू समाज के लोगों को लगते ही लेक व्यू गेस्ट हाउस के बाहर इकठे हुए और ईसाई मिशनरियों के खिलाफ प्रदर्शन किया।

सुंदरनगर: कार्यक्रम स्थल के बाहर नारेबाजी करते हुए लोग

विरोध-प्रदर्शन के दौरान पुलिस और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता के बीच कहासुनी भी हुई। इसके बाद पुलिस बल को मौके पर बुलाकर स्थिति को नियंत्रण में लिया गया। सूचना मिलते ही नायब तहसीलदार सुंदरनगर मौके पर पहुँच गए। उन्होंने ईसाई मिशनरी की प्रार्थना सभा के आयोजकों से संबंधित कार्यक्रम की अनुमति के दस्तावेज माँगे। मगर, ईसाई मिशनरी कार्यक्रम की अनुमति के कागजात नहीं दिखा पाए। जिसके बाद पुलिस की मदद से सभा को बंद करवा दिया गया। इस दौरान काफी तनावपूर्ण माहौल बन गया।

सुंदरनगर: कार्यक्रम स्थल के बाहर नारेबाजी करते हुए लोग

मौके पर पहुंचे बीएसएल कॉलोनी थाना के एएसआई राजेंद्र सिंह ने बताया कि निजी होटल में हंगामा होने की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचकर प्रदर्शन करने वालों को सभा स्थल तक जाने से रोका गया। इसके बाद नायब तहसीलदार के साथ मिलकर सभा को बंद करवाया गया।

इस अवसर पर विहिप (VHP), बजरंग दल, आरएसएस (RSS) और विभिन्न हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने प्रशासन से मांग की है कि भविष्य में इस प्रकार की गतिविधियों पर नजर रखें और स्थानीय लोगों से भी आग्रह किया है कि जो लोग इस प्रकार धर्म परिवर्तन कर रहे हैं, वे सरकार की ओर से मिलने वाली सुविधाएं त्यागें।