सोशल मीडिया पर भारत विरोधी पोस्ट डालने और कमेंट्स में मां-बहन की गंदी गालियाँ देने के लिए कुख्यात ब्रिटिश-पंजाबी गायिका हार्ड कौर अब खुलकर खलिस्तान के समर्थन में आ गयी हैं। ट्विटर पर एक वीडियो जारी कर वो खलिस्तानियों के साथ दिखाई दे रही हैं। इस वीडियो में वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के लिए भी अपशब्द कहती हुई नजर आ रही हैं। उन्होंने मोदी और शाह को डरपोक बताया है।

ब्रिटिश-पंजाबी गायिका ने सोशल मीडिया पर देशविरोधी पोस्ट डालने की सारी हदें पार करते हुए खलिस्तानियों के साथ खलिस्तान-कश्मीर एकता के लिए अभियान चलाया हुआ है। ताजा वीडियो में उन्होंने खलिस्तानियों के साथ मिलकर भारत से अलग एक खलिस्तान देश की मांग की है। अलग खालिस्तान की बात करते हुए हार्ड कौर ने कहा कि यह उनलोगों का हक़ है और वे इसे लेकर रहेंगे।

इस वीडियो में हार्ड कौर पहले अपनी कार से उतरती हैं और उसमें बैठे अपने साथी से उन्हें फिल्माने के लिए कहती हैं। वह रोड क्रॉस करते हुए बस के सामने जाती हैं जिस पर न्यू इंडिया लिखा होता है। इसके बाद वह भारत और भारत सरकार को अपशब्द कहते हुए अभद्र हरकतें करने लगती हैं और कई अपशब्दों का इस्तेमाल करती हैं। वह भारत को रेपिस्ट कंट्री कहती भी सुनाई देती हैं। आखिर में वह प्रो खालिस्तान नारे लगाती हैं और कार की ओर लौटती हैं।

वीडियो में हार्ड कौर ने स्वतंत्रता दिवस पर अपमानजनक टिप्पणी करते हुए कहा कि 15 अगस्त सिखों के लिए आजादी का दिन नहीं है। उन्होंने कहा कि वो 15 अगस्त को ब्रिटेन में भारतीय उच्चायोग के बाहर खलिस्तान के झंडे फहराएंगी और जनमत संग्रह-2020 को आगे बढ़ाएंगी। बता दें कि पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई द्वारा अक्सर खालिस्तानियों को फंडिंग करने और खालिस्तानी अलगाववाद को बढ़ावा देने के मामले सामने आते रहे हैं। इससे पहले भी हार्ड कौर पुलवामा और 26/11 मुंबई आतंकी हमलों के राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत को जिम्मेदार ठहरा चुकी हैं।