AAP-कांग्रेस गठबंधन को लेकर बड़ी खबर यह आ रही है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच लोकसभा चुनावो में गठबंधन हो सकता है। गठबंधन के लिए लालायित अरविंद केजरीवाल के गिड़गिड़ाने के बाद राहुल गांधी पिघल गए है। सूत्रों के मुताबिक राहुल गठबंधन के लिए लिए मन बना रहे है और कांग्रेस ने AAP के साथ गठबंधन पर कार्यकर्ताओं का मन टटोलने के लिए मोबाइल ऐप पर एक ऑडियो क्लिप के जरिए पार्टी की दिल्ली इकाई के कार्यकर्ताओं से उनकी राय मांगी है।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया, ‘कांग्रेस ने अपने ’शक्ति ऐप’ पर दिल्ली के एआईसीसी प्रभारी पी सी चाको की एक ऑडियो क्लिप डाली है, जिसमें वह ‘आप’ के साथ गठबंधन के मुद्दे पर दिल्ली के कांग्रेस कार्यकर्ताओं की राय मांग रहे हैं।’ शक्ति ऐप पर इस बाबत शुरू किया गया सर्वे बुधवार को शुरू हुआ और यह गुरूवार को खत्म होगा। कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि ‘आप’ के साथ गठबंधन ‘‘लगभग तय’’ है और इस महीने के अंत तक इसे अंतिम रूप दे दिया जाएगा।

आपको बता दें कि केजरीवाल कांग्रेस के साथ गठबंधन की कई कोशिशें कर चुके हैं, लेकिन उन्हें असफलता ही हाथ लगी है। कुछ दिन पहले ही केजरीवाल ने चांदनी चौक में एक जनसभा को संबोधित करते हुएकहा था कि वह कांग्रेस से गठबंधन के लिए बोल-बोलकर अब थक गए हैं। गठबंधन नहीं होने से नाराज केजरीवाल ने एक जनसभा के दौरान कांग्रेस और भाजपा में कोई गुप्त समझौते का आरोप लगाते हुए कांग्रेस को ‘अहंकारी’ करार दिया था और कहा था कि चुनाव में उसके उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो जाएगी।

हालांकि दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने दो टूक कहा था कि आप पार्टी के साथ कोई गठबंधन नहीं होगा और कांग्रेस दिल्ली के 7 सीटों पर स्वयं चुनाव लड़ेगी।

Leave a Reply