पुरानी दिल्ली के हौज काजी थाना अन्तर्गत लाल कुआं बाजार में मुस्लिम समाज के लोगों पर मंदिर में तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया गया है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक यह झगड़ा पार्किंग को लेकर शुरू हुआ जो साम्प्रदायिक झगड़े में बदल गया। यह घटना रविवार को रात करीब 10 बजे हुई। पुलिस मामले की जांच कर रही है और क्षेत्र में सुरक्षा कड़ी कर दी है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि कोई अप्रिय घटना नहीं हो।

दिल्ली सरकार में मंत्री रहे कपिल मिश्रा ने इस घटना से सम्बंधित दो वीडियो ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा, “ये पाकिस्तान नहीं बल्कि दिल्ली के चावड़ी बाजार का हिन्दू मंदिर हैं। यह घटना कल की है, जब धर्म विशेष की भीड़ ने मंदिर में घुसकर वहाँ की मूर्तियों को तोड़ा है। यह काम बदमाशों या गुंडों ने नहीं बल्कि सैकड़ो स्थानीय लोगों की भीड़ ने किया है। उन्होंने अपने धर्म के नारे लगाते हुए मंदिर तोड़ा डाला।”

इस वीडियो में देखा जा सकता है कि लोग जब मंदिर पहुँचे तो उन्होंने दिखाया कि कैसे माँ काली व अन्य प्रतिमाओं के आगे लगाए गए ग्लास को तोड़ डाला गया है। इसके अलावा भगवान गणेश की प्रतिमा को भी विखंडित कर दिया गया। भगवान शिव की प्रतिमा को तोड़ डाला गया। कपिल मिश्रा ने इसी घटना से जुड़ी एक अन्य वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, “दिल्ली के हौजकाजी में कल रात एक मंदिर पर पत्थर बरसाए गए और तोड़-फोड़ की गई। पहले पूरे इलाक़े में अफवाह फैलाई गई कि एक मुस्लिम लड़के की मॉब लिंचिंग (भीड़ द्वारा हत्या) हुई है, जबरदस्ती जय श्री राम बुलवाया है। इस अफवाह के बाद संप्रदाय विशेष की मॉब जमा हुई और उस मॉब ने पहले मंदिर में और उसके बाद थाने में हंगामा किया।“

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिबरल बुद्धिजीवियो और “मुसलमान खतरे में है” का नारा लगाने वाले लोगो के डबल स्टैंडर्ड पर हमला बोलते हुए कहा कि, “बस मुझे इतना बता दो कोई, अगर यही भीड़ जय श्री राम बोलती और हमला किसी मस्जिद पर हुआ होता,  क्या तब भी ऐसा ही सन्नाटा होता?

  • मीडिया में एक ख़बर तक नहीं
  • बॉलीवुड का कोई रिएक्शन नहीं
  • नेता, कोर्ट, इंटलेक्चुअल सब बिल्कुल चुप, हिन्दू होना गुनाह हैं क्या?”

जबकि वही स्थानीय लोगों के अनुसार, पहले साज़िश के तहत यह अफवाह फैलाई गई कि एक मुस्लिम व्यक्ति की भीड़ द्वारा हत्या (Mob Lynching) कर दी गई है और उससे जबरदस्ती ‘जय श्री राम’ बुलवाया गया है। इसके बाद गुस्साई मुस्लिम भीड़ मंदिर में घुस आयी और उन्होंने प्रतिमाओं को विखंडित करने के साथ-साथ मंदिर में तोड़-फोड़ की।

इस घटना के बाद स्थानीय पुलिस थाने के सामने बड़ी भीड़ इकट्ठी हो गई और सभी ‘अल्लाहु अकबर’ के नारे लगाते हुए देखे जा सकते हैं। खबर के अनुसार, मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में बतायी जा रही है। तनाव के चलते हौज काजी के बाजार बंद बताए जा रहे हैं। स्थानीय प्रशासन और वरिष्ठ लोगों द्वारा लाउड स्पीकर से युवाओं को शांत रहने की सलाह दी जा रही है।

1 COMMENT

  1. […] ने दुर्गा माता मंदिर में धावा बोला और मूर्तियों को खंडित कर दिया था। जिसके बाद इलाके में […]