‘द वायर’ के झूठ ‘कश्मीर में नही छप रहे अखबार’ को दूरदर्शन पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने किया बेनकाब

- Advertisement -

अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाये जाने के बाद जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में हालात धीरे-धीरे सामान्य से बेहतर होते जा रहे हैं। ऐसे में लेफ्ट-लिबरल मीडिया पोर्टल और एक्टिविस्ट सोशल मीडिया पर जम्मू कश्मीर को लेकर लगातार फेक न्यूज (Fake News) और अफवाह फैलाने में जुटे हैं। ये लोग फेक नरेटिव बनाने का प्रयास कर रहे है कि कश्मीर में प्रेस की स्वतंत्रता और मानवाधिकार उल्लंघन जैसे मामले हो रहे है।

कश्मीर को लेकर फेक न्यूज के जरिये अपना प्रोपेगैंडा (Propaganda) फैलाने में लेफ्ट लिबरल प्रोपेगैंडा वेबसाइट ‘द वायर’ (The Wire) सबसे आगे है। इनके पोर्टल से लगातार फर्जी खबरें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर फैलाई जा रही है। अभी हाल में उन्होंने अपने You Tube चैनल पर एक वीडियो अपलोड किया है। जिसमे ‘कथित वरिष्ठ पत्रकार’ जयशंकर गुप्ता, उर्मिलेश और प्रेम शंकर झा यह डिस्कशन करते दिख रहे है कि 5 अगस्त 2019 के बाद एक भी कश्मीरी अखबार नही छप रहा है, यह ‘आपात काल’ से भी बुरा दौर है जिसमे अखबार तक नही छप रहे है। ‘द वायर’ का यह वीडियो 26 अगस्त का है।

- Advertisement -

उनके इस प्रोपेगैंडा को दूरदर्शन (Doordarshan) के पत्रकार अशोक श्रीवास्तव (Journalist Ashok Shrivastav) ने अपने डिबेट शो ‘दो टूक’ (Do Took) में एक्सपोज करके रख दिया। उन्होंने इन तथाकथित कश्मीर विशेषज्ञ पत्रकारों के झूठ को बेनकाब करते हुए अपने डिबेट शो में इनके मुँह पर सबूत दे मारे।

अशोक श्रीवास्तव ने बताया कि कश्मीर अखबारों के श्रीनगर संस्करण लगातार छप रहे है। वह एक दिन के लिए भी छपना बन्द नही हुए। उन्होंने कई अखबारों की ताजा और 5 अगस्त के बाद कि प्रतियां लाकर इन झूठे पत्रकारों के सामने रख दी। उन्होंने एक श्रीनगर से मंगाये एक वीडियो को भी अपने प्रोग्राम में दिखाया जिसमे सारे अखबारो की प्रतियां दिख रही है। हालांकि इसके बाद भी ये बेशर्म और तथाकथित वरिष्ठ पत्रकार शर्मिंदा नही दिखे और ना ही इन मोटी चमड़ी वाले पत्रकारों ने अपने इस भारत विरोधी कृत्य के लिए कोई माफी मांगी।

बता दें, अशोक श्रीवास्तव ने जम्मू कश्मीर से छपने वाले ग्रेटर कश्मीर (Greater Kashmir),  राइजिंग कश्मीर (Rising Kashmir), कश्मीर उज्मा (Kashmir Uzma), उर्दू अखबार तामीर इरशाद (Tamir Irshad), कश्मीर इमेज (Kashmir Image), कश्मीर रीडर (Kashmir Reader), और कश्मीर टाइम (Kashmir time) समेत कई अखबारों की प्रतियां इन झूठे पत्रकारो को दिखाई और यह भी बताया कि यह सभी श्रीनगर एडिशन है।

अशोक श्रीवास्तव का यह ‘दो टूक’ प्रोग्राम पूरा आप यहाँ देख सकते है

दरअसल वायर कश्मीर को लेकर लगातार झूठी खबरे फैला रहे है। उसका एक झूठ पकड़ा जाता है तो वह अगले दिन फिर एक नए झूठ के साथ हाजिर हो जाता है इसके पहले उसने यह झूठी खबर फैलाई थी कि कश्मीर के अस्पतालों में जीवन रक्षक दवाएं नही है, जिसे श्रीनगर के डीसी शाहिद चौधरी ने बकवास करार देते हुए ट्विटर पर पूरी डिटेल शेयर की थी।

बता दें, न्यूज़ के नाम पर ‘द वायर’ झूठ की फैक्ट्री चला रहा हैं। इनके पोर्टल पर भारत विरोधी, साम्प्रदायिक और जातिगत नफरत बढ़ाने वाली खबरे लगातार पब्लिश की जाती है। फर्जी न्यूज़ साबित होने के बाद भी ये ना तो न्यूज़ हटाते है और ना ही माफी मांगते हैं। अभी हाल में जय शाह की मानहानि मामले में इनके पोर्टल पर सुप्रीम कोर्ट ने कठोर टिप्पणी करते हुए इन्हें ‘पीत पत्रकारिता’ का जनक बताया था। फिर भी ये सुधरने का नाम नही ले रहे है।

The Wire द्वारा की गयी सभी फर्जी रिपोर्टिंग पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे 

- Advertisement -
Awantika Singhhttp://epostmortem.org
Social media enthusiast , blogger, avid reader, nationalist , Right wing. Loves to write on topics of social and national interest.
error: Content is protected !!