चंदशेखर आजाद जिन्होंने अंग्रेजी दासता की गुलामी की जंजीरों से भारतमाता को मुक्त कराने के लिए आपने प्राणों की आहुति दी, उन आजाद के लिए हर राष्ट्रवादी के मन में एक बात गाहे-बगाहे उठने ही लगती है कि आखिर वो कौन था जिसने अंग्रेजों से आजाद जी की जासूसी की थी कि चंद्रशेखर एल्फ्रेड पार्क में मौजूद हैं? क्या कोर्इ हिंदुस्तानी था जो उन्हें मरवाना चाहता था? या फिर अंग्रेजों ने ही उनके पीछे जासूस छोड़े हुए थे?

इस प्रश्न के जवाब में कहीं न कहीं से ये जवाब भी सामने आता है कि देश के प्रथम प्रधानमन्त्री जवाहरलाल नेहरू ने आजाद जी की जासूसी की थी तथा उनकी हत्या में नेहरू जी का हाथ था, लेकिन अब देश की एक नामी हस्ती ने खुले मंच से कहा है कि चंद्रशेखर आजाद जी की हत्या में नेहरू जी का हाथ था और ये दावा करने वाले का नाम है सुजीत आजाद जो चंद्रशेखर आजाद जी के भतीजे हैं।

 

उन्होंने नेहरू जी पर इल्जाम लगाते हुए कहा, “नेहरू ने देश के साथ गद्दारी कर चंद्रशेखर आजाद की हत्या कराई। यह बात किसी से छिपी नही है। कांग्रेस ने हमेशा देश को बाँटने का काम किया है।” बलात्कार की घटनाओं पर सुजीत आजाद ने बोलते हुए कहा, “देश में बढ़ रही रेप जैसी घटनाओं पर लगाम तभी लगेगी जब सरकार इस पर सख्त नियम लाते हुए बलात्कारियों को सीधे गोली मारने का कानून बनाएं। सर्जिकल स्ट्राइक, तीन तलाक जैसे कठोर फैसले लेने वाली सरकार इस दिशा में जरूर कदम उठाएगी यह मेरा पूर्ण विश्वास है।”

क्रांतिकारी शहीद चंद्रशेखर आजाद के जन्मदिवस के अवसर पर उनके भतीजे सुजीत आजाद ने दैनिक जागरण से बातचीत में यह बातें कहीं। वह चंद्रशेखर आजाद के जन्मदिवस पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भवन में आयोजित सम्मान समारोह में शिरकत करने पहुंचे थे। हिंदुस्तान रिपब्लिकन आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और भगत सिंह ब्रिगेड के राष्ट्रीय संयोजक सुजीत आजाद ने राजनीति में आने के सवाल पर कहा कि मैं आजाद का भतीजा हूं। देश के लिए जीने मरने के लिए जन्म हुआ है। राजनीति में कभी नहीं आऊंगा। उन्होंने कहा रिपब्लिकन आर्मी गांव में छिपी प्रतिभाओं, सैनिकों को सम्मान और अपने हक से वंचित लोगों के लिए लगातार काम कर रहा है। उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि आरक्षण आर्थिक आधार पर लागू किया जाए। दल बदल कर मौज मस्ती करने वाले नेताओं के लिए एक कानून बने। जिससे दल बदलू नेताओं पर लगाम लग सके।

कश्मीर के हालात पर उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने कोई काम नहीं किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आने के बाद चार साल में स्थिति में बहुत सुधार हुआ है। आने वाले समय में स्थिति पर पूर्ण रुप से नियंत्रण होगा। लखनऊ में लगेगी चंद्रशेखर आजाद की 100 फीट की मूर्ति सुजीत आजाद ने कहा कि देश का यह दुर्भाग्य है कि देश की स्वाधीनता में अपना योगदान देने वाले क्त्रातिकारियों की उपेक्षा की गई। लेकिन वर्तमान सरकार इस दिशा में बेहतर काम कर रही है। क्रांतिकारियों को सम्मान मिल रहा है। उन्होंने बताया सीएम योगी आदित्यनाथ से मिलकर चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति लगाने की मांग की गई। इस पर उन्होंने अपनी सहमति जताई है। जल्द ही लखनऊ समेत अन्य शहरों में चंद्रशेखर आजाद की 100 फीट की मूर्ति लगेगी। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री से मिल इंडिया गेट का नाम भारत द्वार रखने की माँग की गई है। यदि इस पर ध्यान ना दिया गया तो हिंदुस्तान रिपब्लिकन आर्मी के लोग इंडिया गेट पर प्रदर्शन को विवश होंगे।