पंजाब नेशनल बैंक के आरोपी मेहुल चोकसी लेकर एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ने बड़ा बयान दिया है। एंटीगुआ और बार्बूडा के प्रधानमंत्री ने मेहुल को धोखेबाज और झूठा बताते हुए कहा कि भारतीय जांच एजेंसियां उसके खिलाफ किसी भी जांच के लिए स्वतंत्र हैं। गैस्टन ब्राउन ने कहा कि मेहुल चौकसी को वापस अपने देश जाना ही होगा। ये सब समय की बात है कि वो कबतक कानूनी दांव-पेचों से खुद को बाहर रख पाता है।

बता दें कि मेहुल चोकसी पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी का मामा है, जिसने एंटीगुआ के सिटिजनशिप बाय इंवेस्टमेंट प्रोग्राम के तहत कैरेबियाई देश की नागरिकता ले ली है। एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने कहा, “मुझे बाद में पता चला कि मेहुल चोकसी धोखेबाज है और हमारे देश की भलाई के लिए सही नहीं है। भारतीय अधिकारी उसकी जांच के लिए स्वतंत्र हैं।”

कैरेबियाई पीएम ने आगे कहा कि मेहुल की अपील समाप्त होते ही उसे इस देश से बाहर कर दिया जाएगा। बता दें कि हाल ही में एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ने मेहुल की नागरिकता रद्द करने का ऐलान किया था। ये कदम उन्होंने भारत के दबाव में उठाया था।

गौरतलब है कि वर्ष 2018 में नीरव मोदी और मेहुल चोकसी ने फर्जी लेटर ऑफ अंडस्टैंडिंग्स (एओयू) के जरिए पंजाब नैशनल बैंक की मुंबई स्थित बार्डी हाउस शाखा को करीब 13 हजार करोड़ रुपये का चूना लगा दिया। इस घोटाले के उजागर होने पर दोनों भारत छोड़ विदेश भाग गए और 15 जनवरी 2018 को मेहुल को एंटीगुआ की नागरिकता मिल गयी।