प्रयागराज: आर्यकन्या चौराहे पर मुहर्रम जुलूस में फंसी कार में तोड़फोड़ पर बवाल, 9 लोग गिरफ्तार

- Advertisement -

प्रयागराज के मुट्ठीगंज इलाके में आर्यकन्या चौराहे के पास रविवार रात मुहर्रम के जुलूस के दौरान व्यापारी रवि केसरवानी की कार में तोड़फोड़ के बाद पुलिस ने कल सोमवार को (9 सितम्बर 2019) मामले में 9 लोगो को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान मोहम्मद सलीम, फहाद उस्मान, फैजान, मोहम्मद इरफान, मोहम्मद कलीम, असद अलियास नबी, गुलाब बाबू, मोहम्मद वकील और मोहम्मद अनस के रूप में हुई है।

यह घटना रविवार (8 सितम्बर 2019) रात की है। मुहर्रम की आठवीं पर कीडगंज थाने वाली सड़क से जुलूस निकाला गया। जब जुलूस 9.15 के करीब आर्यकन्या चौराहे के करीब स्थित बरगद वाली गली के पास से होकर गुजर रहा था। इसी दौरान मुट्ठीगंज निवासी व्यापारी रवि केशरवानी भी कार से अपने दोस्तों सौरभ गुप्ता व रमेश वर्मा के साथ रामभवन चौराहे से मुट्ठीगंज टीपी नगर जा रहे थे। उनकी कार जुलूस के बीच में आ गई, जिससे आक्रोशित कुछ लोगों ने शीशे तोड़ दिए।

- Advertisement -

यह देख कर आसपास के लोग जुटे तो तोड़फोड़ करने वाले चले गए। इसके बाद घटना से आक्रोशित लोगों ने पहले मुट्ठीगंज और फिर आर्यकन्या चौराहे पर जाम लगा दिया। कुछ हिंदू संगठन के लोग भी आ गए। भीड़ बढ़ती देख सूचना दी गई तो कई थानों की फोर्स बुलाने के साथ ही डीआईजी, एसएसपी भी पहुंच गए। अफसरों ने स्थिति संभाली और लोगों को समझाया। तब जाकर करीब घंटे भर बाद लोग शांत हुए। एहतियातन मौके पर पुलिस के साथ ही पीएसी भी तैनात कर दी गई। पीड़ित व्यापारी रवि ने थाने पहुंचकर अज्ञात लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया।

इस घटना के अगले दिन पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज चेक करके कर इन 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। डीआईजी केपी सिंह के मुताबिक, “कार मालिक की शिकायत के आधार पर पुलिस ने अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ मामले को आईपीसी धारा 147, 148, 427 और 504 के तहत दर्ज कर लिया गया है और 9 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।”

डीआईजी ने कहा इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर कई अवांछित पोस्ट अपलोड किए जा रहे हैं, जिसमें गलत जानकारी फैलाकर घटना को साम्प्रादायिक रूप देने की कोशिश हो रही है इसलिए इलाहाबाद पुलिस की साइबर सेल कोशिश में जुटी हैं कि इस घटना से संबंधित तस्वीरों को डिलीट किया जा सके और ऐसे पोस्ट करने वालों पर एक्शन हो सके। उन्होंने यह भी कहा कि कर्नलगंज निवासी एक युवक अमन को सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने के लिए आईपीसी की धारा 153A , 295A  और IT एक्ट की धारा 66 के तहत गिरफ्तार किया गया है।

- Advertisement -
error: Content is protected !!