राजस्थान में अलवर जिले के चर्चित पहलू खान की भीड़ द्वारा की गई पिटाई के बाद मौत के मामले में आज यानी बुधवार को कोर्ट फैसला सुना दिया है। इस मामले में शामिल 6 आरोपियों को बरी कर दिया गया है। कोर्ट ने सभी कथित आरोपियों को निर्दोष पाया। ये सभी लोग साजिशन इस मामले में फंसाए गये थे।

फैसला आने के बाद कोर्ट से बाहर निकले पहलू खान पक्ष के वकील कासिम खान ने कहा कि केस की जांच सही ढंग से नहीं की गई है। पुलिस ने राजनीतिक दबाव में चार्जशीट पेश की गई। अभी कोर्ट का फैसला नहीं मिला है, फैसले का अध्ययन करने के बाद आगे की रणनीति बनाएंगे। उधर, कोर्ट के फैसले पर पहलू के बेटे इरशाद ने अफसोस जाहिर किया है। उन्होंने कहा कि वह इस फैसले से खुश नहीं हैं और आगे अपील करेंगे।

बता दें, पहलू खान मॉब लिंचिंग केस में कुल 9 आरोपियों के खिलाफ जांच चली। इनमें से बुधवार को कोर्ट 6 आरोपियों पर फैसला सुनाया। विपिन यादव, रविन्द्र कुमार, कालूराम, दयानंद, योगेश कुमार उर्फ धोलिया और भीम राठी को लेकर यह फैसला सुनाया गया। दरअसल, आरोपी दीपक उर्फ गोली को कोर्ट ने नाबालिग माना है। अब मामले में कुल 3 आरोपियों को बाल अपचारी मानते हुए इनका ट्रायल जेजे बोर्ड में चलेगा।

अतिरिक्त लोक अभियोजक योगेंद्र खटाणा ने बताया कि एक अप्रैल 2017 को बहरोड थाना क्षेत्र में पहलू खान और उसके पुत्र गायों को लेकर जा रहे थे। उनको भीड़ ने उन्हें रोककर उनके साथ कथित मारपीट की गई थी। इलाज के दौरान चार अप्रैल को पहलू खान की मौत हो गई थी। इस मामले की पुलिस द्वारा चार्जशीट पेश होने के बाद लगातार सुनवाई हुई। पहलू खान के बेटों सहित 47 गवाहों के बयान कोर्ट में कराए गए।