सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशान्त पटेल उमराव का दावा है की 26 फरवरी को भारत की पाकिस्तान के बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक में जैश-ए-मोहम्मद का प्रमुख मसूद अज़हर मारा जा चुका है।

 

आइए जानते हैं इस दावे में कितनी सच्चाई है।

1 मार्च को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था की, मसूद अजहर पाकिस्तान में ही है पर वो बहुत बीमार है। कल 2 मार्च को पाकिस्तान ने बताया की मसूद अजहर की किडनी फेल हो चुकी है और उसका रावलपिंडी के अस्पताल में इलाज चल रहा है।

 

अब आप देखिये पाकिस्तान के बालाकोट दौरा कर चुकी इटालियन पत्रकार फ्रांसेस्का मरीनो क्या कह रही हैं। इन्होंने बताया की एक प्रत्यक्षदर्शी से बात की जिसने कम से कम 35 शवों को देखा जो की निकाले गए थे। इस पत्रकार ने ये भी बताया की जहाँ पर भारत ने एयर स्ट्राइक किया था उस इलाके को पाकिस्तानी सेना ने तुरंत ही सील कर दिया था ताकि वहां की जानकारियां बाहर न जाए। इस पत्रकार ने 35 का आंकड़ा सिर्फ 1 शख्स से बात करके दिया, जो की बालाकोट में ही मौजूद था, भारतीय सेना 300 से ज्यादा की बात कर चुकी है।

यही नहीं ये बात सेटेलाइट की तस्वीरों के जरिए भी समझने का प्रयास करते हैं। भारतीय सेना के एकदम सटीक स्ट्राइक किया है, और सिर्फ JEM के ठिकाने को ही निशाना बनाया है, बाकि हमारी सेना ने पाकिस्तान के नागरिको या सेना को निशाना नहीं बनाया। सेटेलाइट की तस्वीर से फर्क देखा जा सकता है। पहले वहां पर पूरा मदरसा एकदम ठीक है, बाउंड्री बनी हुई है, इमारतें बनी हुई है। एयर स्ट्राइक के बाद वहां पर बालू-बालू हो चूका है, इमारतें और बाउंड्री तबाह हुई है।

मसूद अजहर का छोटा भाई भी यह बात स्वीकार कर चुका है कि एयर स्ट्राइक में जैश ए मोहम्मद के अड्डे तबाह हुए हैं।

भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान डर गया और शांति का राग अलापने लगा। भारत सरकार ने कहा कि अगर आप शांति चाहते हो तो आतंकी मसूद अजहर और हाफिज सईद को हमें सौंप दो, लेकिन पाकिस्तान ने बहाना बनाया की मसूद अज़हर बीमार है और भारत सरकार सबूत दे। इन सब बातों से तो यही लगता है कि मसूद अजहर मारा जा चुका है। हालांकि अभी तक उसके मरने की खबर की पुष्टि ना तो किसी भारतीय सरकारी एजेंसी ने की हैं और ना ही किसी पाकिस्तानी एजेंसी ने मसूद अजहर की मौत की पुष्टि की हैं।

Leave a Reply