FAKE ALERT: दलितों से भेदभाव करते है, गौमूत्र पीते है इसलिए हिन्दू धर्म छोड़कर अपनाया इस्लाम

- Advertisement -

सोशल मीडिया पर एक महिला की तस्वीर को इस दावे का साथ शेयर किया जा रहा है कि उन्होंने इस्लाम सिर्फ इसलिए अपनाया क्योंकि हिंदू गौ मूत्र पीते हैं और दलितों के साथ छुआछूत मानते हैं। यह खबर votegiri.com नाम की वेबसाइट द्वारा शेयर की गई है। इस आर्टिकल का शीर्षक है।

‘गाय का मूत्र पी सकते है लेकिन दलित के हाथ से पानी नहीं, इसीलिए मेने हिन्दू धर्म छोड़ इस्लाम कुबूला।’

- Advertisement -

(इस खबर के टाइटल में यह अशुद्धियां ही खबर और वेबसाइट की विश्वसनीयता को सन्देह के दायरे में ला देती है।)

क्या है दावा

votegiri.com वेबसाइट पर इस आर्टिकल में दावा किया गया है कि इस्लाम अपनाने के बाद महिला ने अपना नाम मरियम रख लिया। आर्टिकल में महिला के हवाले से यह भी कहा गया है कि इस्लाम महिलाओं के लिए सबसे बेहतर धर्म है। आर्टिकल में महिला के हवाले से लिखा है, ‘मैंने इस्लाम को करीब से जानने की कोशिश की तो पाया इस्लाम पूरी दुनिया का सबसे अच्छा मजहब है। इस्लाम अमन शांति का मजहब है। इस्लाम में महिलाओं को सबसे ज्यादा हक दिए गए हैं।’

इस वेबसाइट पर खबर के साथ यह भी दावा किया गया है कि “इस्लाम में न किसी को सताया जाता है और न ही किसी को मारा जाता है, बल्कि इस्लाम मज़हब शांति का मज़हब है और इसीलिए जो इसको क़ुबूल करता है वो इसकी कभी बुराई नहीं बल्कि अच्छे ही करता है।”

यह आर्टिकल सोशल मीडिया पर बड़े पैमाने पर शेयर किया जा रहा है

सच क्या है?

votegiri.com ने जिस महिला की तस्वीर के साथ यह खबर लिखी है वह असल में जया भंडारी की है। जया के पति और ससुरालवालों ने जबरन उनसे इस्लाम कबूलवाया था जिसके बाद उन्होंने रांची पुलिस से शिकायत की थी। यह मामला जनवरी 2015 का है।

जनवरी, 2015 को हिन्दुस्तान टाइम्स में प्रकाशित इस रिपोर्ट में जया भंडारी को पुलिस अफसर के साथ बैठे देखा जा सकता है। यह रिपोर्ट इस लिंक पर पढ़ी जा सकती है। इनके अलावा इस पूरे मामले पर टाइम्स ऑफ इंडिया ने भी रिपोर्ट प्रकाशित की थी लेकिन महिला की फोटो के बिना।

इस रिपोर्ट में महिला का नाम जया भंडारी बताया गया है, जो तलाकशुदा हैं। जया ने अपने दूसरे पति वकार दानिश अनवर और उनके परिवार द्वारा मारपीट करने और जबरन धर्मांतरण करवाने के बाद FIR दर्ज की थी। रिपोर्ट के अनुसार, उन्हें बीफ खाने के लिए भी मजबूर किया गया था।

निष्कर्ष
हिंदू धर्म छोड़कर इस्लाम अपनाने के दावे के साथ जिस महिला का फोटो शेयर किया जा रहा है वह असल में जया भंडारी है और जबरन धर्मांतरण की शिकार हैं। जिन्हें जबरदस्ती इस्लाम कबूल करवा कर बीफ खाने के लिए मजबूर किया गया था और महिला ने इसकी शिकायत पुलिस से की थी।

- Advertisement -
error: Content is protected !!